केंद्र ने लालू और मांझी की वापस ली जेड प्लस सुरक्षा

0
149

(नई दिल्ली)
। केंद्र सरकार ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद और जीतनराम मांझी की सुरक्षा में कटौती कर दी है। लालू को अब जेड प्लस की बजाए जेड श्रेणी की सुरक्षा मिलेगी। केंद्र की सरकार ने वीवीआईपी सुरक्षा की समीक्षा के बाद यह फैसला लिया है। भारत सरकार के गृह मंत्रालय के अनुसार तत्काल प्रभाव से राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की एनएसजी सुरक्षा वापस होगी। उन्हें अब तक जेड प्लस सुरक्षा मिल रही थी, अब उन्हें जेड श्रेणी की सुरक्षा मिलेगी। लालू  के साथ जेड श्रेणी में कैसी सुरक्षा होगी यह अभी तय होना है। केंद्र ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी को मिली जेड प्लस सुरक्षा भी वापस ले ली है। उनके साथ किसी भी केटेगरी में सीआरपीएफ की तैनाती का आदेश अब तक नहीं दिया गया है।
केंद्रीय गृह मंत्रालय की सुरक्षा वापसी का आदेश पटना गृह विभाग को प्राप्त हुआ है। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के साथ लंबे समय से नेशनल सिक्यूरिटी गार्ड (एनएसजी) कमांडो तैनात थे। जेड केटेगरी में अब उन्हें एनएसजी कमांडो नहीं मिलेंगे। जेड केटेगरी में अब सीआरपीएफ के जवान लालू प्रसाद की सुरक्षा में तैनात किए जाएंगे। केंद्र ने जीतनराम मांझी की सुरक्षा की व्यवस्था खत्म कर दी है। उनके साथ अब सुरक्षा कर्मी नहीं रहेंगे। मांझी बिहार के गया जिले से आते हैं, जो कि नक्सल प्रभावित इलाका है। ऐसे में उनकी सुरक्षा को हमेशा जरूरी माना जाता रहा है।
माना जाता है कि यह मांझी की केंद्र सरकार के खिलाफ बयानबाजी का नतीजा है। बहरहाल ऐसा नहीं है कि केंद्र सरकार ने इस फैसले से पहले बिहार सरकार की राय नहीं ली होगी। केंद्र सरकार के इस फैसले को निश्चित तौर पर बिहार की राजनीति में अलग-अलग चश्मे से देखा जाएगा। मगर इतना तय माना जा रहा है कि इस मुद्दे पर आने वाले दिनों में बिहार में सियासी तापमान बढ़ जाएगा। बताया जा रहा है कि अब इन नेताओं को भी बिहार सरकार के अन्य पूर्व मुख्यमंत्रियों की तरह स्पेशल सिक्योरिटी गार्ड की सुरक्षा मिलेगी। यह सुरक्षा बल एसपीजी की तरह बताया गया है।मुख्यमंत्रियों की तरह स्पेशल सिक्योरिटी गार्ड की सुरक्षा मिलेगी। यह सुरक्षा बल एसपीजी की तरह बताया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here