गोल्ड मेडलिस्ट बबीता फोगाट ने कहा -आत्महत्या कोई समाधान नहीं

0
35
बबीता फोगाट
गोल्ड मेडलिस्ट बबीता फोगाट ने कहा -आत्महत्या कोई समाधान नहीं
Breaking news

रेसलर बबीता जो 30 साल की पहली भारतीय महिला पहलवान है जिन्हें गोल्ड मेडलिस्ट भी रह चुकी है।

बबीता फोगाट सोशल मीडिया में हमेशा सक्रिय रहती है

हालांकि बबीता जो आत्महत्या के खिलाफ रहती थी,

लेकिन आज उनकी छोटी बहन ने ही आत्महत्या को अपना रास्ता बना लिया।

जिस वजह से दुख में डूबा परिवार, साथ ही बबीता ने कह दिया आत्महत्या कोई समाधान नहीं है.

बबीता फोगाट  की छोटी बहन ने की खुदकुशी।

असल मे बबिता की बहन  रितिका फोगाट छोटी बहन है

जो कि रेसलर टूर्नामेंट में हिस्सा लिया था लेकिन कुश्ती टूर्नामेंट एक पॉइंट से हार गई,

रितिका को हार का दुख बरदाश नही हुआ जिस वजह से दुनिया को अलविदा कह दिया

आपको बता दे रितिका फोगाट गीता और बबिता फोगाट को मेमरी बहन है

राजस्थान के भरतपुर में सब जूनियर टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंच गई थी,

जिंसमे रितिका ने 12 से 14 मार्च के बीच स्टेट लेवल सब जूनियर टूर्नामेंट में हिस्सा लिया था.

इस टूर्नामेंट में ही 14 मार्च को फाइनल मुकाबले में रितिका हार गईं थी.

इसके बाद वो काफी निराश थी और सदमे में थी जिस वजह से  15 मार्च को फांसी लगा ली।

गीता  और बबीता फोगाट को पूरा भारत जानता है औऱ पूरा देश उन पर गर्व करता है

लेकिन यह परिवार के लिए काफी दुःखद घड़ी है जिंसमे लोगों को विश्वास नहीं हो रहा है।

कि जिनकी बड़ी बहनों ने इतने तप करने के बाद भी नही मानी हार आज

उनके परिवार से इतनो जल्दी हार मान कर कैसे सबको छोड़कर चली गई।

जिस बात का दुख बयां खुद गीता फोगाट ने भी किया।

रितिका फोगाट

जिंसमे उन्हें कहा कि आत्महत्या कोई समाधान नहीं है

हार जीत तो जीवन के महत्वपूर्ण पहलू है हार ने वाला जीतता ज़रुर है

आगे लिखा कि संघर्षों से घबराकर ऐसा कोई कदम नहीं उठाना चाहिए।

आपको बता दें रीतिका फोगाट को महावीर फोगाट ट्रेन कर रहे थे जो उस टूर्नामेंट में भी शामिल थे।

रितिका ने इस कुश्ती के लिए खूब मेहनत की थी और

इतनी मेहनत के वाबजूद भी एक पॉइंट की हार से सदमा लग गया था ।

हालांकि इस समय फोगाट परिवार को कई सेलेब्रिटी और कई खिलाड़ी उनके परिवार को हिम्मत देने लिए पोस्ट शेयर कर रहे है।

और सभी अपनी तरफ से ऐसा कदम नहीं उठाने की भी कामना कर रहे है।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here