ग्रैंड स्लेम पर शारापोवा की नज़रें

0
85
sharapova

मॉस्को, 24 अप्रैल  विश्व की पूर्व नंबर एक खिलाड़ी रूस की मारिया शारापोवा अपने 15 महीने के डोपिंग बैन के कारण टेनिस करियर में काफी पीछे चली गयी हैं लेकिन अब उन्होंने और ग्रैंड स्लेम हासिल करने का लक्ष्य रखा है।

31 साल की शारापोवा ने करियर में पांच ग्रैंड स्लेम जीते हैं।

एक समय टेनिस की बड़ी सनसनी कही जा रहीं शारापोवा अपने ऊपर लगे 15 महीने के डोपिंग बैन के कारण रैंकिंग के साथ साथ करियर में काफी पिछड़ गयीं। उन्होंने गत वर्ष अप्रैल में स्टटगार्ट ग्रां प्री से वापसी की थी और उसके बाद से केवल तियानजिन ओपन के रूप में एक ही खिताब जीता है।
खराब प्रदर्शन और चोट की समस्या के कारण रूसी टेनिस खिलाड़ी ने इस वर्ष बेहतर खेल के साथ ग्रैंड स्लेम जीतने का भरोसा जताया है। स्टटगार्ट ओपन में खेल रहीं शारापोवा ने कहा“ मैंने ग्रैंड स्लेम जीत का अनुभव किया है और इसलिये मैं हमेशा इसी के बारे में सोचती हूं।”

उन्होंने कहा“ मेरा यह कहना गलत होगा कि इस वर्ष मेरा लक्ष्य निचले स्तर के टूर्नामेंट जीतना है बल्कि मैं सच कहूं तो अब मैं बड़े टूर्नामेंट जीतना चाहती हैं। मैंने पहले भी इसका अनुभव किया है और मैं जानती हूं कि यह अहसास अलग ही होता है। मैं इसे पाने के लिये लगातार काम कर रही हूं।”

शारापोवा ने वर्ष 2014 में फ्रेंच ओपन के रूप में करियर का पहला ग्रैंड स्लेम जीता था।

उन्होंने अपने संन्यास की योजना से इंकार करते हुये कहा“ मैंने अपने लिये कोई योजना नहीं बनाई है। मैंने हमेशा कहा है कि मैं अपनी शर्ताें पर ही संन्यास का फैसला करूंगी।”

पूर्व नंबर एक खिलाड़ी ने कहा“ मैं अभी एक और ओलंपिक में खेलना चाहती हूं। लेकिन मुझे नहीं पता कि यह हो पाएगा या नहीं। इस समय 2018 में मैं इसके बारे में नहीं कह सकती। लेकिन मैं आगे बढ़ना चाहती हूं और मेहनत करना चाहती हूं। देखते हैं कि यह मुझे कहां तक लेकर जाएगा।”
प्रीति राजवार्ता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here