नवरात्र 2021 – जानिए चैत्र नवरात्र से जुडी सारी बातें

0
159
Navratri 2021
नवरात्र 2021 - जानिए चैत्र नवरात्र से जुडी सारी बातें

नवरात्र 2021 -हिन्दू कैलेंडर के अनुसार प्रतिवर्ष चैत्र के आरम्भ से ही चैत्रीय नवरात्र का प्रारम्भ होता है.
नवरात्र में माँ दुर्गा की विशेष भक्ति भाव से पूजा की जाती है.
इस नवरात्र का उल्लेख सभी पुराणों में भी प्रमुखता से मिलता है साथ ही

भारत के लगभग सभी स्थानों पर इसका एकसमान विशेष महत्व होता है.

वैसे तो प्रत्येक वर्ष मुख्य रूप से दो नवरात्र होते हैं साथ ही चैत्र, आषाढ़,

अश्विन और माघ को मिलाकर कुल चार नवरात्र होते हैं किन्तु चैत्रीय

नवरात्र भक्ति के साथ साथ शक्ति का भी महापर्व होता है

जिसमें हर आस्थावान साधक की सभी मनोकामनाएं शीघ्रता से पूर्ण होती हैं.

चैत्र की नवरात्रि में घट स्थापना के साथ ही माँ दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है

जिन्हें नवदुर्गा भी कहा जाता है.
प्रत्येक दिन एक देवी को समर्पित होता है जिनका क्रम इस वर्ष इस प्रकार रहेगा –

13 अप्रेल – प्रथमा – शैलपुत्री
14 अप्रेल – द्वितीया – ब्रह्मचारिणी
15 अप्रेल – तृतीया – चंद्रघंटा
16 अप्रेल – चतुर्थी – कुष्मांडा
17 अप्रेल – पंचमी – स्कंदमाता
18 अप्रेल – षष्टी – कात्यायनी
19 अप्रेल – सप्तमी – कालरात्रि
20 अप्रेल – अष्टमी – महागौरी
21 अप्रेल – नवमी – सिद्धिदात्री

हिन्दू धर्म की मान्यताओं के अनुसार चैत्र प्रतिप्रदा के दिन प्रजापिता ब्रह्मा

ने सृष्टि की रचना आरम्भ की थी इसलिए चैत्र मास की नवरात्रि कई मायनों में ख़ास होती है.

देश के अलग अलग प्रदेशों के हिसाब से देखा जाए तो मुख्यतः गुजरात,

राजस्थान,मध्यप्रदेश,छत्तीसगढ़,हरियाणा.महाराष्ट्र और उत्तरप्रदेश में ये पर्व विशेषता से मनाया जाता है.
इसके अलावा तमिलनाडु, बंगाल, केरल, आंध्रप्रदेश इत्यादि में कई

स्थानो और देवी मंदिरों में भी माँ की भक्ति के साथ चैत्रीय नवरात्र का उल्लास मनाया जाता है.

कैसे करें माँ की भक्ति

नवरात्रि के नौ दिन साधक को यथाशक्ति शुद्ध मन मस्तिष्क से माँ की भक्ति करनी चाहिए.
स्वैच्छिक रूप से आप स्वल्पाहार या फलाहार का व्रत भी ले सकते हैं

लेकिन वर्तमान परिस्थिति और स्वास्थ्य कारणों सेअपने डेली रूटीन

का पालन करते हुए भी माँ की आराधना की जा सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here