फेफड़ों में पानी भरने का देसी इलाज

0
601
फेफड़ों में पानी भरने का देसी इलाज
फेफड़ों में पानी भरने का देसी इलाज

फेफड़ो में पानी भर जाने की वजह से सांस लेने में दिक्कतें होने लगती है 

फेफड़ो में पानी भरने का संकेत  पल्मोनरी एडिमा की वजह से पता लगता है  यह एक ऐसी गम्भीर समस्या है

यदि फेफड़ों में तरल पदार्थ आने पर शरीर को पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं मिल पाता है

जिसके कारण फेफड़ो में सूजन आ जाती है और साथ ही ऑक्सीजन सही मात्रा में नहीं मिल पाता है

लेकिन सही समय पर इसका इलाज करवाने से यह समस्या ज्यादा परेशानी का कारण नही बनती है।

फेफड़ो में पानी क्यों भरता है

हालांकि यह समस्या को गंभीर रूप से नहीं देखा गया तो  फेफड़ों में पानी भरने से फेफड़े धीरे धीरे गलने लगते है 

जिसकी वजह से मवाद पड़ने पर यह संक्रमित अन्य रोगों में फैलने लगता है

संक्रमित के रक्त में फैलने से सब्सिटिनिया का खतरा भी होने लगता है

जिससे मरीज की जान भी जा सकती है तो इस समस्या को समझने में देरी ना लगाए

तो देसी इलाज से जल्द ही आराम मिलने की उम्मीदों को बढ़ा दी सकती है।

तो आइए जाने क्या होते है ऐसे लक्षण:-

1) शरीर के निचले हिस्सों में सूजन आना या फिर पैरों में सूजन का तेजी से बढ़ना।

2) किसी भी ऊंचाई में चलने में दिक्कतें होना और सांस फूलने लगना ज्यादा देर तक चल नहीं पाना।

3) सही तरह से व्यायाम ना करना या फिर दिल का सही तरह से ना धड़कना।

4) खांसी के साथ खून का आना या बिना वजह बलगम आना।

5) फेफड़ों के भाग में लगातार या लंबे वक्त तक दर्द होता है औऱ इन सभी समस्याओं के कारण मरीज

को बुखार ठंड लगना या भूख ना लगने जैसी समस्या हो सकती है।

फेफड़ो में पानी क्यों भरता है ?

असल मे किसी भी वजह से सीने में चोट लगने की वजह से , या फिर वायरल का बार बार होना जैसे

कि वायरल ठीक होने के बाद तुरन्द वायरल का जल्द से लौट आना।

बैक्टीरियल  या फंगल संक्रमित होने को वजह से केंसर या दिल या लिवर की गम्भीर बीमारी हो सकती है

इसके अलावा किडनी खराब होने की आशंका होती है।

फेफड़ों में पानी भरने का देसी फायदे

1) नमक का सेवन कम करना क्योंकि आपके शरीर मे नमक का ज्यादा लेना

आपके शरीर में अधिक तरल पदार्थ बनने लगता है उसके लिए खाने में नमक का सेवन कम करने की कोशिश करें

उसकी जगह नींबू, काली मिर्च, लहसुन  या अन्य कोई जड़ी बूटियों का सेवन करें ।

2) तुलसी और लहसुन का सेवन करना तुलसी  एक सबसे प्राकृतिक जड़ी बूटी है

जिसके एवं रोज खाली पेट करने से रोगों से छुटकारा मिलता है साथ ही लहसुन का इसमें लगा फायदा है

जो फेफड़ो को मजबूत बनाता है यदि तुलसी का रस थोड़ा सा निकाल कर और

लहसुन का रस निकालकर सही मात्रा में लेने से रोजाना सुबह खाली पेट लेने से इस समस्या का निजात मिल सकता है।
3 ) जैतून का नमक आप यही सोच रहे है कि जैतून का तो तेल होता है

लेकिन जैतून का नमक भी बहुत फायदेमंद होता है जैतून के नमक से अपच, गैस्ट्रिक से संबंधित या

फिर पेट मे दर्द जैसी बीमारी को भी दूर करता है।

रोजाना आधा ग्राम  जैतून का नमक और साथ मे गर्म पानी लें इससे आपको आराम मिल सकता है।

Olive namak

4) स्मोकिंग से और शराब से दूर रहें क्योंकि आधे से ज्यादा परेशानी इन दो चीजों से होती है

इसकी वजह से उनके कण फेफड़ों तक आ जाते हों और पानी भरने लगता है।
5) प्रणायाम को सही तरह से आराम से करें जल्द बाजी में यह व्यायाम ना करें अगर हो सकें

तो किसी से सीख कर ही प्रणायाम करें साथ ही खान पान का सेवन सही उचित मात्रा में लें और

पौष्टिक लें ज्यादा तला हुआ खाना भी हानिकारक हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here