राहुल ने सिंधिया के अरमानों पर फेरा पानी कहीं घोषित नहीं होगा मुख्यमंत्री उम्मीदवार

0
206
कोलारस मुंगावली जिताने वाले ज्योतिरादित्य का तगड़ा झटका
बदले जा सकते हैं मप्र कांग्रेस अध्यक्ष, अरुण यादव से छिनेेगा पद
कमलनाथ, ज्योतिरादित्य को सौंपी जा सकती है कमान
दिग्विजय सिंह को भी अहम पद लाने की कवायद
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आदेश दिया है कि कर्नाटक को छोड़कर जिन राज्यों में चुनाव होने हैं, वहां किसी को भी सीएम चेहरे के तौर पर प्रचारित न किया जाए। इस साल के अंत में मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में चुनाव होने हैं, इसलिए राहुल पर काफी दबाव है कि भाजपा को पछाडऩे के लिए जल्द से जल्द इन राज्यों में सीएम चेहरे की घोषणा हो। मध्य प्रदेश में राहुल पर राज्य कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव को बदल कर उनकी जगह किसी और तेज-तर्रार नेता को लाने का दबाव है। इस कड़ी में कमलनाथ और सिंधिया के नाम प्रमुख हैं।
दूसरी तरफ दिग्विजय सिंह का जनाधार व्यापक है, इसलिए हाईकमान सोचने के लिए मजबूर है कि कौन-सी राह बेहतर है। जहां तक राजस्थान का सवाल है, तो वहां सचिन पायलट ने राज्य अध्यक्ष की कुर्सी हथिया अपना दबदबा दिखाया है, लेकिन वहां पार्टी की मुश्किलें कम नहीं हैं, क्योंकि वहां भी सीएम पद के दावेदारों की लंबी सूची है, जिनमें अशोक गहलोत, सीपी जोशी, नमो नारायण मीणा, जितेंन्द्र सिंह और गिरजा व्यास शामिल हैं। हालांकि राजस्थान में हुए चुनावों में कांग्रेस को मिली बड़ी जीत ने पायलट के दावे को मजबूत किया है।
बावजूद इसके जातीय समीकरणो के चलते उन्हें भी सीएम फेस घोषित नहीं किया जाएगा। छत्तीसगढ़ में हालांकि भूपेश बघेल को राज्य अध्यक्ष व टीएस सिंह को नेता प्रतिपक्ष बनाए रखा गया है, लेकिन राहुल ने वहां रामदयाल और शिवकुमार को कार्यकारी अध्यक्ष बना कर अपनी टीम का विस्तार किया है। कांग्रेस महासचिव और राजस्थान प्रभारी अविनाश पांडे ने राहुल को सामूहिक नेतृत्व में चुनाव लडऩे का फार्मूला सुझाया है।
अहंकार, कुशासन की हार – राहुल
कोलारस, मुंगावली जीत पर राहुल ने ट्वीट किया-मध्यप्रदेश की जागरुक जनता, मतदाताओं व कांग्रेस कार्यकर्ताओं को कोलारस और मुंगावली की शानदार जीत की बधाई। यह अहंकार तथा कुशासन की हार व उम्मीद की जीत है। पहले राजस्थान और अब मध्यप्रदेश ने साबित किया कि बदलाव की आहट दस्तक दे रही है।
भाजपा के धनबल-बाहुबल पर जनता की जीत – सिंधिया
ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट किया- मुंगावली और कोलारस की जीत सत्य की जीत है। धनबल के ऊपर जनबल की जीत है। भाजपा के बाहुबल के सामने जनबल जीत गया है। आपके विश्वास की जीत है। अन्नदाताओं की जीत है। सबसे ऊपर ये जीत मेरी आन, बान और शान मेरी प्यारी जनता की जीत है।
सिंधिया को सीएम उम्मीदवार बनाने का स्वागत – कमलनाथ
एक अंग्रेजी अखबार को दिये इंटरव्यू में कमलनाथ ने कहा- अगर सिंधिया को मुख्यमंत्री उम्मीदवार के रूप में आगे किया जाता है तो मैं इसका स्वागत करूंगा। पार्टी प्रदेश में उम्मीदवार की घोषणा जल्द करे, क्योंकि वहां दिसंबर में ही चुनाव होने हैं।
दो सीट नहीं जीत सके 200 पार कैसे जाएंगे – अरुण
मप्र कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव ने कहा- सत्ता के मद में मशगूल ‘अबकी बार 200 पार का वाले दम्भी नेतागण तमाम अवांछनीय हरकतों के बाद मात्र दो सीट नहीं जीत सकते, वे अब 200 पार का लक्ष्य कैसे हासिल करेंगे।
इधर भाजपा को अपनों ने ही घेरा
सिंधिया ने अर्जुन बनकर भेदा चक्रव्यूह
पूर्व मुख्यमंत्री व वर्तमान विधायक बाबूलाल गौर ने सिंधिया की तारीफ की है। गौर से चुनाव से पहले कहा था कि यह चुनाव महाभारत का महासंग्राम है, इसमें राजा महाराजा रानी, सामंत, मुख्यमंत्री, मंत्री सब गांव गांव घर घर गए हैं। वहीं उन्होंने सिंधिया को लेकर कहा था कि सिंधिया अभिमन्यु की तरह चक्रव्यूह में घिरे हुए हैं, अब तोड़ पाएंगे या नहीं भगवान ही मालिक है? जीत के बाद गौर ने कहा कि उपचुनाव महाभारत था, ज्योतिरादित्य सिंधिया को चक्रव्यूह में घेरने की कोशिश हुई थी, लेकिन सिंधिया अभिमन्यु नहीं बने, बल्कि अर्जुन बनकर चक्रव्यूह को भेद दिया।
लोकतंत्र में जनता ही जनार्दन : शिवराज
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट किया- मुंगावली और कोलारस विधानसभा क्षेत्र के उपचुनाव में विजयी कांग्रेस प्रत्याशियों को बधाई। लोकतंत्र में जनता जनार्दन है। मैं जनता के फैसले को स्वीकार करता हूँ। दोनों क्षेत्रों और राज्य के विकास के लिए मेरा समर्पण और परिश्रम सतत जारी रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here