Home More FoodMate ६ मंथ बेबी फ़ूड गेन- ६मंथ में बेबी का वजन कैसे बढ़ाएं...

६ मंथ बेबी फ़ूड गेन- ६मंथ में बेबी का वजन कैसे बढ़ाएं ?

0
६ मंथ बेबी फ़ूड गेन- ६मंथ में बेबी का वजन कैसे बढ़ाएं ?

अक्सर हर मां के मन मे यही बेचैनी होती है कि जब 6 मंथ का बेबी ठोस आहार शुरू कर देता है

तो ऐसा क्या आहार दें जिससे उसके बेबी का वजन सही तरह से बढ़ सकें?

बेबी पहली बार जब कोई आहार लेता है तो बहुत से बदलाव देखने को मिलते है

जिंसमे यह भी पता चलने लगता है कि किन आहार को अच्छे से खा पा रहा है

और किस तरह से ठोस आहार देंना उचित होगा जिससे कि बेबी कमज़ोर ना हो बल्कि स्वस्थ रहे।

6 मंथ बेबी के  हिसाब से कौनसा आहार या फल सब्जी देना बेबी के वजन बढ़ाने में सहायक होगा।  

जिसमें फैट ,प्रोटीन ,विटामिन आदि की सही मात्रा होनी चाहिए। इसके अलावा कुछ ऐसे पौष्टिक आहार भी है।

अभिवावकों को यह चिंता होती है कि उनका बेबी 6 मंथ पूरा करने के बाद उसका वजन सही ढंग से नहीं बढ़ रहा है। 

क्योंकि अभी तक माँ के दूध से या फॉर्मूला दूध से उसकी पूर्ति हो जाया करती है । 

आइये जाने कुछ टिप्स और रोजाना अपने लाडले शिशु को दें ।

जिससे बढ़ जाएगा वजन। 6 मंथ में बेबी के फ़ूड से कैसे बढ़ाएं वजन। 

६ मंथ बेबी फ़ूड गेन

1 मलाई वाला दूध( full cream milk)-

मलाई वाला दूध( full cream milk)

मलाई वाले दूध में कई पोषण तत्व होते है जिस वजह से यह ध्यान रखें बेबी के अंदर किसी भी पोषण की कमी ना हो।

यह भी ध्यान रखें आप पहेली बार मलाई का दूध दे रही है चाहे वो गाय का हो या

डेरी का तो शुरुआत में थोड़ा पानी डाल कर दें सकती है इससे भी फेट बढ़ जाता है।

लगभग सभी माँ के मन मे यह सवाल उठता है 1 साल से पहले गाय का दूध पिलाना सही होता है 

या नहीं तो डॉक्टर से सलाह इस बारे में अवश्य लें। और

कोशिश करें आप अपने बेबी को थोड़ी मात्रा मे ही डेरी या गाय का दूध दें और उसके साथ ही माँ का दूध भी दें।

2 आलू  (potatoes)

आलू  (potatoes)

आलू वजन को बढ़ाने में सहायक होता है इससे 6 मंथ बेबी के लिए अच्छा होता है

क्योंकि इसमें कार्बोहाइड्रेट और ऊर्जा का बहुत अच्छा स्रोत है।

अगर आप बेबी कब वजन को देखना चाहती है तो आलू को उबाल कर और नरम करके मैश करके दे सकते है

याद रखे 1 साल से पहले बेबी को नमक और शक्कर ना दें।

3 रागी ( Finger Millet) –

रागी (Finger Millet)

रागी /नाचनी बेबी के वजन बढ़ाने के लिए सबसे ज़्यादा लाभकारी रहा है

इससे शिशु का सिर्फ वजन ही नहीं बल्कि हड्डियों को मजबूत भी करता है।

आप बेबी को ब्रेकफास्ट में या डिनर में आपके बच्चे को रोजाना दे सकते है

जिससे उसका वजन अच्छी तरह बढ़ सकता है।

4 दाल –

दाल

दाल में प्रोटीन काफी होता है। छोटे बच्चों को दाल का पानी अवश्य पिलाना चाहिए।

और अगर हो सके कुछ दिन बाद ही दाल को मेश करके भी आप दें सकते है

उसमें थोड़ी सी हींग डाल कर  जिससे कि अगर बेबी को गैस से समन्धित समस्या हो तो वो डोर ही सकती है।

स्वादिष्ट होने के साथ ये छोटे बच्चों के लिए ये एक बेहतरीन आहार है

जो उनके पोषण की लगभग सारी आवश्यकताओं की पूर्ति करता है।

5 घी ( ghee ) –

घी ( ghee )

घी सबसे अच्छा स्त्रोत होता है बच्चे का वजन बढ़ाने के लिए,

यह 6 मंथ से अधिक उम्र के बच्‍चे के आहार में घी को शामिल कर सकते हैं।

दाल और चावल की खिचड़ी में घी की कुछ बूंदें डालकर इसकी शुरुआत की जा सकती है।

आप शिशु के बढ़ने के साथ-साथ घी की मात्रा धीरे-धीरे बढ़ा सकते हैं।

हालांकि, एक दिन में बच्‍चे को एक चम्‍मच से ज्‍यादा घी नहीं खिलाना चाहिए।

6 शक्करकन्द( Sweet Patato)-

शक्करकन्द( Sweet Patato)

यह पोषक तत्व और स्वास्थ्य के हिसाब से इसमें कई फायदे पाए जाते हैं।

शकरकंद खाने से बच्चों का वजन बढ़ाने में लाभकारी होता है।

इसमें विटामिन, खनिज और कई तरह के प्रोटीन पाये जाते है।

साथ ही इसमें कैलोरी,स्टार्च, विटामिन डी, विटामिन ए और विटामिन बी की मात्रा अधिक होता है

यहाँ तक को बच्चों के विकास करने में सहायक होता है 

इसमें  पोटेशियम की मात्रा और  कैरोटीनॉइड की मात्रा  है।

यह पेट और आंतों के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

शकरकंद में बीटा कैरोटीन और फास्फोरस होने के कारण यह नेत्र

और हृदय स्वास्थ्य के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है।

7 फुल क्रीम वाला दही ( full cream curd )

फुल क्रीम वाला दही ( full cream curd )

दही बहुत पोष्टिक होता है जो कि बेबी के विकास के लिए जरूरी आहार माना जाता है। 

फुल क्रीम वाले दही से वजन बढ़ने में भी सहायक होता है

इसको दाल खिचड़ी या चावल की खिचड़ी के साथ लाभकारी होता है

याद रहे गर्मी के मौसम में खिलाना ज्यादा उचित होता है।  इसमें लैक्टिक एसिड होता है

जो कि बच्‍चों के इम्‍यून सिस्‍टम को मजबूत करने के लिए बहुत जरूरी है।

रोज दही खाने से बीमारी पैदा करने वाले बैक्‍टीरिया पेट से नष्‍ट हो जाते हैं।

कोशिश करें घर से बना हुआ ही दही खिलाएं।

हालांकि इस बात का भी विशेष ध्यान रखें कि 6 मंथ पूरा होने पर ही ठोस आहार देना शुरू करें

अगर 6 मंथ के पहले भी आपके बेबी का वजन नही बड़ें

तो माताओं को ही अपनी डाइट में हेल्थी फ़ूड खाएं जिससे कि माँ के दूध के द्वारा ही

बेबी को इस बात की कमी ना ही अगर फिर भी शिशु का वजन नहीं बड़ें तो डॉक्टर की सलाह लें।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here