जरूरत हुई तो मैं देश के सैनिकों को पहुंचाने के लिए वाहन चला सकता हूं – अन्ना

0
12
Anna Hazare said

मुम्बई – सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने कहा कि सेना का ट्रक चलाने की ताकत उनमें अभी तक है। अनशन के बाद हॉस्पिटल में भर्ती अन्ना हजारे जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में सीआरपीएफ के एक काफिले पर आतंकी हमले पर प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे थे जिसमें 40 से ज्यादा जवान शहीद हुए हैं।


हजारे ने अपने एक सहयोगी के जरिए कहा

बुजुर्ग होने के कारण मैं बंदूक नहीं उठा सकता लेकिन अगर जरूरत हुई तो मैं देश के लिए लड़ाई करने वाले अपने सैनिकों को पहुंचाने के लिए निश्चित रूप से वाहन चला सकता हूं।


अन्ना हजारे 1960 में एक ट्रक चालक के रूप में सेना में शामिल हुए थे। 1965 में भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान वह खेम करन सेक्टर में तैनात थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here