दिल को मजबूत करने की आयुर्वेदिक दवा ।

0
145
ayurvedic medicine to strengthen heart
Due to irregular routine, you are facing heart related diseases, so now strengthen your heart with Ayurvedic medicine.

दिल को मजबूत करने की आयुर्वेदिक दवा ।

अनियमित दिनचर्या और खान पान का ध्यान ना देने की वजह से दिल से जुड़ी गम्भीर समस्याओं से गुजरना पड़ता है

और ऐसे  कई अन्य रोग भी होने लग जाते है। यही कारण है

कि अपना जीवन विलासिता पूर्ण जीने की वजह से ही नई नई तरह की बीमारियां आने लगी है।

अगर बात करें दिल के रोगों की तो हार्ट अटैक की समस्या सबसे ज्यादा 30 से 50 साल  उम्र के लोगों में होती है।

Dr कहते है कि यदि आपको अपने heart को मजबूत रखना है

तो नियमित व्यायाम, पोष्टिक आहार और दिनचर्या की अच्छा रखना बहुत ज़रूरी है

खासतौर पर तब जब हर खाने में मिलावट हो या भागदौड़ का जीवन हो, ऐसे में खुद के शरीर का ख्याल बहुत जरूरी होने लगा है,

लेकिन यह भी ज़रूरी नही है कि आप किसी दवा का सहारा लें

यदि आप नियमित रूप से व्यायाम, सही खान पान का सेवन करेंगे तो यही आपके जीवन मे दवा का काम कर सकती है।

हालांकि यदि आप आर्युवेदिक को मानते है तो यकीन माने कि

आपको छोटे छोटे नुस्खों से ही heart की या कोई अन्य बीमारियों का सामना करने की जरूरत नहीं होगी।

अगर आपको भी अपने दिल को मजबूत रखना है तो आप इन सभी नुस्खों को जीवनशैली में जरूर अपनाए।

दिल को मजबूत रखने की आर्युवेदिक दवा।

1) हल्दी –

हल्दी 

कहते है कि हल्दी हमारे शरीर को औषधि के रूप में काम करती है

जो कई बीमारियों को या फिर शरीर मे लगे घाव को भी ठीक कर देती है,

इसलिये हमारे शरीर को नियमित रूप से हल्दी का सेवन करना बहुत ज़रूरी है

जो कि हमारे शरीर के  ब्लड क्लॉट को होने से बचाती है और साथ ही  रोजाना गुनगुने पानी मे

हल्दी का पानी पीने से या गरारा करने से गले का भी इंफेक्शन खत्म होता है।

2) तुलसी –

तुलसी

देखा गया है कि एक तरह से तुलसी रामबाण की तरह होती है इसका महत्व हमारे जीवन मे बहुत उपयोगी है 

को देवी का रूप भी कहते है जो कि विष्णु जी को सबसे ज्यादा प्रिय है।

तुलसी का सेवन नियमित रूप से  करने से कोलेस्ट्रॉल और ब्लूडप्रेशर कंट्रोल रहता है।

वैसे तुलसी का सेवन हमारे तनावपूर्ण जीवन को भी अच्छा रखता है।

इसलिए यदि हमें अपने heart को मजबूत बनाना है तो रोजाना तुलसी अपने आहार में उपयोग करें।

3) लहसुन –

लहसुन

डॉक्टर लहसुन खाने की सलाह देते है कुछ रिसर्च ने  इस बात का पता लगाया है

कि इसका इस्तेमाल धमनियों से प्लेग को कम करता है। लहसुन हमारे खून को भी साफ रखता है,

लेकिन कुछ लोगों को लहसुन की सुंगध पसंद नहीं होती है

इसलिए बिना स्मेल वाली लहसुन के केप्सूल का इस्तेमाल कर सकते है यह भी दिल ( heart) को  जवां रखने में सहायक होता है

लेकिन यदि आप  लहसुन को रोजाना अपनी डाइट में लेकर आएंगे तो यह आपके लिए अच्छा रहेगा।

4) अर्जुनछाल –

अर्जुनछाल पॉउडर

डॉक्टर्स कहते है कि अर्जुनछाल एक प्राकृतिक कॉर्डियो-टॉनिक के रूप में बहुत लाभकारी सिद्ध हुआ है।

यह एक जड़ीबूटी  है जो कि दिल को मजबूत बनाए रखने के साथ ही साथ जो कार्डिक मासपेशियों को भी मजबूत करता है।

यह आपको किसी भी आर्युवेदिक दवाईयों में मिल सकता है

इसका सेवन गरमपानी में शहद और अर्जुनछाल के पॉउडर को मिला ले सकते है।

5) नियमित व्यायाम –

नियमित व्यायाम

ऊपर दिए सारी जड़ी बूटियों के साथ व्यायाम या योगा भी किसी दवा से कम नहीं है

दिल को बेहतर बनाने और साथ ही कई अनेक बीमारियों को दूर रखने एक मात्र उपाय है

कि रोज सूर्य उदय से पहले उठकर योगा करने से छोटी से बड़ी बीमारी हमें छू भी नहीं पाती है।

इसलिए सुबह को 15 से 20 मिनिट योगा करने से आपके दिल को स्वस्थ और तरोताजा बनाने में सहायक करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here