CBSE देगी बिना परीक्षा का रिजल्ट, जानिए कैसे?

0
24
CBSE
CBSE
Breaking news

देश में अचानक बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के बीच प्रतिष्ठित शैक्षणिक बोर्ड CBSE ने दसवीं कक्षा की परीक्षाएं टालने का फैसला लिया है. 10 कक्षा की ये परीक्षाएं 4 मई को शुरू होने वाली थी.
10 के साथ ही कक्षा 12वी की भी परीक्षाएं थी, फिलहाल उनकी भी तारीखें आगे बढ़ा दी गयी हैं.
शिक्षा मंत्रालय द्वारा जरी किये गए एक संयुक्त बयान में कहा गया की 10 वी कक्षा का रिजल्ट CBSE द्वारा तैयार किये गए वैकल्पिक तरीके से जारी किया जाएगा.
बोर्ड ने छात्रों के मूल्यांकन के लिए एक नया फार्मूला बनाया गया है

किन्तु यदि कोई छात्र इससे संतुष्ट नहीं होता तो स्थिति ठीक होने पर उसे परीक्षा देने का मौका दिया जाएगा.
जिसमें उपस्थित होकर वो अपना रिजल्ट सुधार सकता है.

आपको बता दें की CBSE देश के बड़े और प्रतिष्ठित शिक्षा संस्थानों में से एक है.
CBSE किसी भी सामान्य परिस्थिति में अपनी परीक्षाएं रद्द नहीं करता
ऐसे में इस फैसले को गंभीरता से देखा जाना चाहिए.

पिछले वर्ष भी यही था आलम


कोरोना महामारी के कारण गत वर्ष भी सीबीएसई ने अपनी कुछ परीक्षाएं स्थगित कर दी थी.
कक्षा 10 और 12 के पर्चे तब भी नहीं हो सके थे.
हालाँकि पिछले वर्ष जब कोरोना की शुरुआत हुई थी तब कुल 83 विषय छूट गए थे जिनमे जरूरी 29 विषयों की परीक्षाएं हुई और बाकी को रद्द कर दिया गया.
जो बचे थे इनका मूल्यांकन ग्रेडिंग फार्मूले के तहत हुआ था जिससे कई छात्र असंतुष्ट थे.
इसी नाराजगी को देखते हुए इस वर्ष बाद में परीक्षा देने का प्रावधान रखा गया है.
वहीं संभावना इस बात कि भी जताई जा रही है कि CBSE इस वर्ष 10 वी का परिणाम प्रोजेक्ट वर्क, असाइनमेंट्स और इंटरनल के आधार पर जारी कर सकती है.

देशभर में हुआ विरोध


उत्तीर्ण होने वाले छात्रों की संख्या 91.46 प्रतिशत थी.
हालाँकि तब कोरोना की स्थिति बेहद गंभीर थी इसलिए ना तो प्रावीण्य सूची जारी हुई और
ना ही टॉपरों का एलान किया गया था.
इसलिए देशभर में मिली जुली प्रतिक्रियाएं देखने को मिली थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here