मौसम में बदलाव के साथ डेंगू Dengue और मलेरिया Malaria,का खतरा बड़ा बच्चों के साथ लापरवाही न बरतें

0
46
Dengue and Malaria
Dengue and Malaria , do not be careless with children due to change in weather, the high risk of Dengue and malaria

मध्य प्रदेश के कई शहरों में मौसम में बदलाव के साथ मच्छरों का प्रकोप तेजी से बढ़ने लगा है।
यह मच्छरों के लिए बेहतीन मौसम है। और इंसान के लिए उतना ही खतरनाक हो सकते हैं
इस मौसम में मच्छरों के काटने से होने वाली बीमारियां जैसे मलेरिया-डेंगू Malaria-Dengue बहुत तेजी से फैलती हैं।
इनसे बचने का सबसे आसान तरीका है कि अपने आसपास मच्छरों को पनपने ही नहीं दिया जाए।
मच्छर वहां पैदा होते हैं जहां पानी जमा होता है।

घरों में कूलर, पुरानी पानी टंकी या छत पर पानी जमा होना आदि कई वस्तुएं हैं
जिनमें आसानी से पानी जमा हो जाता है।

मलेरिया और डेंगू के लक्षण क्या है जानिए

मलेरिया में ठंड लगकर तेज बुखार आता है जो 103-104 डिग्री तक जा सकता है।
यह बुखार बार-बार चढ़ता-उतरता रहता है।
इसके अलावा सिर दर्द और उल्टी भी इसके लक्षण हैं।
डेंगू में बुखार मलेरिया के मुकाबले कम रहता है।
जोड़ों में दर्द रहेगा। शरीर में जगह-जगह चकते आ जाते हैं।
शरीर में प्लेटलेट्स कम हो जाते हैं।
दरअसल डेंगू का वायरस शरीर में प्रवेश कर हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को नुकसान पहुंचा देता है।

जरूर रखें इन बातों का ध्यान

मलेरिया और डेंगू की अनदेखी महंगी पड़ सकती है।
सामान्य नजर आने वाली ये दोनों बीमारियां लापरवाही के चलते जानलेवा साबित हो सकती हैं।
शासकीय अस्पतालों और डिस्पेंसरी में इन दोनों बीमारियों की जांच निश्शुल्क उपलब्ध है।
खून की जांच कर आसानी से इनका पता लगाया जा सकता है।
डेंगू और मलेरिया बीमारी लगने वाली बीमारी नहीं है एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को नहीं होता है।