मशहूर कवि, साहित्‍यकार और गीतकार के रूप में जाने जाते थे गोपालदास नीरज

0
116

Celebrities – हिन्‍दी के मशहूर कवि, गीतकार और साहित्‍यकार गोपालदास सक्‍सेना जिनको गोपालदास नीरज के नाम से भी जाना जाता था | गुरुवार को इलाज के दौरान एम्‍स में उनका 93 साल में निधन हो गया था | वह अपनी कविताओं, गीत और साहित्‍य से मशहूर थे |

आज भी उन्‍हें लोग उनके लिखे मशहूर गीतों के लिए याद करते हैं | उनका जन्म 4 जनवरी 1925 को उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के पुरावली गांव में हुआ था | नीरज की लेखन शैली बहुत सरल और उच्‍च स्‍तर की थी | उन्‍होंने ठेरों कविताएं लिखी हैं और उनकी कविताओं का इस्‍तेमाल गानों के रूप में कई हिन्‍दी फिल्‍मों में किया जा चुका है | उन्होंने ‘मेरा नाम जोकर‘, ‘प्रेम पूजारी‘, ‘तेरे मेरे सपने‘ और ‘गैंबलर‘ जैसी फिल्‍मों के लिए गाने लिखे थे | जो खूब मशहूर हुए थे |

वैसे तो उन्होंने कई सफल गाने लिखे है | लेकिन उन्‍हें सबसे ज्‍यादा पहचान 1968 में फिल्‍म ‘कन्‍यादान‘ के गाने ‘लिखे जो खत तुझे…‘ से मिली है |

इस गाने को मोहम्‍मद रफी ने गाया था, जो उस समय खूब मशहूर हुआ था | फिर उन्‍होंने फिल्म ‘प्रेम पूजारी‘ के लिए अपने एक सर्वश्रेष्‍ठ गाना ‘रंगीला ले…‘ लिखा | लेखन के अलावा नीरज ने शिक्षा के क्षेत्र में भी काफी योगदान दिया | वह अलीगढ़ के धर्म समाज कॉलेज में हिन्‍दी साहित्‍य के प्रोफेसर थे | साल 2012 में वह अलीगढ़ स्थित मंगलायतन यूनिवर्सिटी के चांसलर भी रह चुके हैं | उनको 1991 में पद्मश्री और 2007 में पद्म भूषण से सम्‍मानित किया गया था | आज भले ही गोपालदास नीरज इस दुनिया में नहीं रहे हैं | लेकिन उनकी लिखी कविताएं, साहित्य और गीत में वह हमेशा दुनिया में अमर रहेंगे | इनके जरिए उन्हें याद किया जाएगा |

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here