इस दिन होगी जन्माष्टमी, जानिए जन्माष्टमी से जुड़ी कुछ ख़ास बातें

0
127
Shri Krishna - Janamashtami 2018
दो दिन मनाया जाएगा जन्माष्टमी का त्यौहार

Janamashtami 2018 – भगवान श्रीकृष्‍ण के जन्‍मदिवस की पूरे देश में जोरो शोरो से चल रही हैं | माना जाता है कि भगवान श्रीकृष्‍ण का जन्‍म भादो माह की कृष्‍ण पक्ष की अष्‍टमी को हुआ था |

बता दें कि यह भगवन श्रीकृष्‍ण की 5245वीं जयंती हैं | लेकिन, इस बार सबसे ख़ास बात यह है कि जन्‍माष्‍टमी का त्यौहार दो दिन मनाया जाएगा | इस बार वैष्‍णव कृष्‍ण जन्‍माष्‍टमी 3 सितंबर को पढ़ रही है | इस हिसाब से जन्माष्टमी का त्यौहार 2 सितम्बर और 3 सितम्बर दोनों दिन मनाया जाएगा | लेकिन इससे जुड़े तथ्य यह है कि 2 सितंबर को पहले दिन वाली जन्माष्टमी का त्यौहार मंदिरों में और ब्राह्मणों द्वारा मनाया | वहीं, अगले दिन यानि 3 सितंबर को दूसरे दिन जन्माष्टमी का त्यौहार वैष्णव सम्प्रदाय के द्वारा मनाया जाएगा | श्री कृष्ण की पूजा आधी रात को की जाती है |

इससे जुड़ी कुछ ख़ास बातें

इस बार अष्टमी 2 सितंबर की रात 08:47 पर लगेगी और अगले दिन यानी 3 सितम्बर की शाम 07:20 पर समाप्त होगी | वहीं, रोहिणी नक्षत्र 2 सितंबर की रात 8 बजकर 48 मिनट पर प्रारम्भ होगा और अगले दिन 3 सितंबर की रात 8 बजकर 5 मिनट पर समाप्त हो जाएगा | उसके बाद निशीथ काल पूजन की बात करें तो इसका समय 2 सितंबर 2018 को रात 11:57 मिनट से रात 12:48 मिनट तक चलेगा | जन्माष्टमी पर व्रत रखने की बात करें तो जो भक्‍त जन्‍माष्‍टमी का व्रत रखना चाहते हैं उन्‍हें एक दिन पहले सिर्फ एक समय का भोजन ग्रहण करना चाहिए | जन्‍माष्‍टमी के दिन सुबह स्‍नान करने के बाद भक्‍त को व्रत का संकल्‍प लेना चाहिए और अगले दिन रोहिणी नक्षत्र, अष्‍टमी तिथि के समाप्त होने के पश्चात् भक्त अपना व्रत खोल सकते हैं |

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here