मंत्री इंदर सिंह परमार ने स्कूली शिक्षा में बदलाव को लेकर की घोषणा । जाने क्या है पूरा मामला

0
30
मंत्री इंदर सिंह परमार ने स्कूली शिक्षा में बदलाव को लेकर की घोषणा । जाने क्या है पूरा मामला
मंत्री इंदर सिंह परमार ने स्कूली शिक्षा में बदलाव को लेकर की घोषणा । जाने क्या है पूरा मामला

भोपाल । School Education Minister Inder Singh Parmar Announced: स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने मध्य प्रदेश की स्कूल शिक्षा में बड़े बदलाव की बात की है। मंत्री ने कहा है कि, जो कुछ भी सिलेबस में गलत पढ़ाया जा रहा है, उसे दूर किया जाएगा। अब प्रदेश की शिक्षा में रामायण (Ramayan), महाभारत (Mahabharat), वेद, शास्त्र के कुछ अंश पाठ्यक्रम में जोड़े जाएंगे। जल्द ही बदलाव देखने को मिलेगा, फिलहाल इस पर विचार किया जा रहा है। मंत्री ने इतिहास को भी सही करने की बात की है।

दरअसल, प्रदेश के स्कूली शिक्षा में लगातार कई बदलाव किए जा रहे हैं। इससे पहले मध्यप्रदेश शिक्षा विभाग (Madhya Pradesh Education Department) में मुगल शासकों की गाथाओं को हटाने की भी बात मंत्री ने कही थी। मुगलों की जगह भारत के गौरवशाली इतिहास और परंपराओं को सिलेबस में शामिल किया जाएगा।

इसके अलावा मंत्री ने माध्यमिक शिक्षा मंडल कक्षा 10वीं के छात्रों के लिए बड़े बदलाव की घोषणा की गई थी। बता दें कि माध्यमिक शिक्षा मंडल (Board of Secondary Education) की दसवीं परीक्षा में 6 विषय होते हैं, जिसमें हिंदी-अंग्रेजी के अलावा संस्कृत, विज्ञान, गणित और सामाजिक विज्ञान हैं। इसके अलावा नेशनल स्किल्स के कुछ विषय भी होते हैं।

10वीं में हुए बदलावों को लेकर माध्यमिक शिक्षा मंडल (Board of Secondary Education) ने निर्देश जारी किए हैं।
इस पर माध्यमिक शिक्षा मंडल ने कहा कि पहले बेस्ट ऑफ फाइव (Best of five) लागू कर छात्रों के साथ खिलवाड़ किया जाता है। इसके अलावा यदि इंग्लिश को वैकल्पिक विषय किया जाता है, तो इससे स्टुडेंट के भविष्य पर असर देखने को मिल सकता है। वर्तमान में नए शैक्षणिक सत्र में बेस्ट ऑफ फाइव को खत्म करने का प्रस्ताव माध्यमिक शिक्षा मंडल को भेजा गया है। देखना होगा कि आगे इस मामले में क्या अपडेट आता है।