17 Cluster – निर्माण की प्रक्रिया एक माह में शुरू करें Chief Minister Shivraj Singh Chouhan

0
58
17 Cluster
17 Cluster - निर्माण की प्रक्रिया एक माह में शुरू करें

Chief Minister Shivraj Singh Chouhan मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं में शुरू होने वाले 17 कलस्टर्स (17 clusters) निर्माण की प्रक्रिया एक माह में आरंभ की जाए। रोजगार और स्व-रोजगार (self-employment) राज्य शासन की प्राथमिकता है। फार्म, फर्नीचर, (furniture) रेडीमेड गारमेंट, फूड-प्रोसेसिंग और खिलौना निर्माण में बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसरों (Large-scale employment opportunities) का सृजन होता है। इन कलस्टर्स का कार्य सर्वोच्च प्राथमिकता से पूरा करें।

औद्योगिक पार्कों के निर्माण की प्रक्रिया को भी गति दी जाए।

साथ ही केवल रोजगार ही नहीं स्व-रोजगार के लिए सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों से युवाओं को जोड़ने के लिए सुविधाजनक वातावरण और युवाओं को आवश्यक प्रोत्साहन उपलब्ध कराने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। स्व-रोजगार योजनाओं में अनुदान की राशि सीधे हितग्राहियों के खाते में ऑनलाइन हस्तांतरित करने के लिए पोर्टल अपग्रेडेशन का कार्य शीघ्र पूर्ण करें। सभी जिला कलेक्टर प्रतिमाह होने वाले रोजगार दिवस में अधिक से अधिक युवाओं को जोड़ें।

CM मंत्रालय में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम विभाग की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि शासकीय विभागों के क्रय में गुणवत्ता से समझौता किए बिना राज्य में निर्मित सामग्री को प्राथमिकता दी जाए। इससे राज्य के उद्योगों को प्रोत्साहन मिलेगा। प्रदेश में स्टार्टअप (Small and Medium Enterprises )के लिए बेहतर इको सिस्टम विद्यमान है, खाद्य प्र-संस्करण और कृषि से संबंधित स्टार्टअप्स की पर्याप्त संभावनाएं विद्यमान हैं।

इस क्षेत्र में विभिन्न विभागों में परस्पर समन्वय से कार्य को गति दी जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि (Udyami Kranti Yojana) मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना, (MSME Protsahan Yojana) एमएसएमई प्रोत्साहन योजना और मप्र स्टार्टअप नीति में निवेश पर सहायता जैसी योजनाओं का लाभ लेने में युवाओं को कोई समस्या नहीं आए। जानकारी दी गई कि एक जिला-एक उत्पाद योजना में निर्मित सामग्री को ई-कॉमर्स कम्पनियों के साथ जोड़ने की दिशा में वॉलमार्ट वृद्धि के साथ एमओयू किया जा चुका है।