कैसे सुन्नत तरीक़े से हो शादियां, भोपाल में आयोजित होने जा रहा है एक खास प्रोग्राम, शहर काज़ी और विधायक आरिफ मसूद होंगे शामिल

0
180
Shahr-e-Qazi and MLA arif masood
Muslim Mahasabha Fakh-e-Millat Ejazi Jalsa organized

भोपाल : महंगी शादियों के मद्देनज़र भारतीय मुसलमानों की धार्मिक संस्था

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने शादी को लेकर एक अपील जारी की थी,

जिसमें निकाह को आसान बनाने पर ज़ोर दिया गया था।

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने मुसलमानों से अपील करते हुए कहा था कि निकाह को सादा और आसान बनाएं,

बेकार रस्म रिवाजों ख़ासतौर पर दहेज की मांग, हल्दी, रतजगा से परहेज़ करें,

बारात की रस्म को ख़त्म करते हुए मस्जिद में सादगी के साथ निकाह का तरीक़ा अपनाएं।

इसी तर्क पर मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में मुस्लिम महासभा फख़-ए-मिल्लत एजाज़ी जलसा द्वारा एक प्रोग्राम किया जा रहा है।

जिसमें इन सब बातों को लेकर लोगों को समझाइश दी जाएगी।

प्रोग्राम इंडियन शादी हाल गिन्नोरी में कल रविवार 26 जून को दोपहर 2 बजे से आयोजित किया जाएगा।

इस खास प्रोग्राम में मुस्लिम महासभा के प्रदेश अध्यक्ष मुनव्वर अली खान,

जिला अध्यक्ष मोहम्मद अली अतिथि के रूप में तशरीफ करेंगे।

इसके अलावा शहर-ए-क़ाज़ी मुशताक अली मदवी (Shahr-e-Qazi) और विधायक आरिफ मसूद भी शामिल होंगे।

ये है इस खास प्रोग्राम का विषय

मुस्लिम महासभा फख़-ए-मिल्लत एजाज़ी जलसा द्वारा आयोजित इस प्रोग्राम का यह विषय है

कि जिस तरीका-ए-कार से अपनी शादी (बिना बारात व बिना जहेज़) की है उससे मुआतश्रे में एक अच्छा पैगाम गया है

ऐसे लोग काबिले सताईश और मुबारकबाद के हक़दार हैं।

जो लोग बिना बारात और बिना दहेज लिए शादी करते हैं।

उनकी शादी सबसे ज्यादा पवित्र कहलाती हैं।

इस विषय से सम्बंधित इस प्रोग्राम को रखा गया है।

लोगों से की गई ये अपील

जो हज़रात अपने बेटे और बेटीयों की शादी भी सुन्नत तरीके से करना चाहते हैं।

उन ख्वातीन और हज़रात से गुज़ारिश है कि इस प्रोग्राम में तशरीफ लाकर मुस्लिम महासभा के खिदमतगारों से राबता क़ायम करके उनके नाम लिखवा दें ‘कोशिश हमारी मदद अल्लाह की।