विनायक मेटे, मुंबई-पुणे एक्सप्रेसवे पर सड़क दुर्घटना में मौत फॉर्च्यूनर कार के उड़े परखच्चे

0
39
Vinayak Mete dead
Vinayak Mete dead in road accident on Mumbai-Pune Express

विनायक मेटे नो मोर: अधिकारियों ने कहा कि दुर्घटना के बाद मेटे को नवी मुंबई के कामोठे (Kamothe)

के MGM अस्पताल में ले जाया गया जहां पूर्व एमएलसी सदस्य (MLC member ) को मृत घोषित कर दिया गया।

शिव संग्राम प्रमुख और मराठा नेता विनायक मेटे का रविवार को खोपोली के पास मुंबई-पुणे

एक्सप्रेसवे पर एक कार दुर्घटना में निधन हो गया। मराठा समुदाय के लिए आरक्षण के कट्टर समर्थक मेटे 52 साल के थे।
अधिकारियों ने कहा कि दुर्घटना सुबह करीब 5.15 बजे पड़ोसी रायगढ़

जिले के रसायनी पुलिस थाने के अधिकार क्षेत्र में मदप सुरंग के पास हुई।

उन्होंने कहा कि मेटे, एक अन्य व्यक्ति और उसका Driver दुर्घटना के दौरान कार में थे,

उन्होंने कहा कि उन्हें नवी मुंबई के कामोठे के एक निजी अस्पताल में ले जाया

गया जहां महाराष्ट्र विधान परिषद (एमएलसी) के पूर्व सदस्य को मृत घोषित कर दिया गया।

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने मेटे के निधन पर दुख व्यक्त किया है

और उनके परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने ट्वीट किया,

शिव संग्राम संगठन के अध्यक्ष विनायक मेटे के सड़क दुर्घटना में निधन के बारे में जानकर स्तब्ध और दुखी हूं।

पिछड़े वर्गों के उत्थान के लिए उनका समर्पित कार्य उल्लेखनीय था।”