वॉट्सऐप, फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन ,यूट्यूब ‘मुफ्त’ में हैं तो ये कंपनियां पैसा कहां से कमाती हैंl

0
68
WhatsApp, Facebook, Twitter, LinkedIn, YouTube are 'free
WhatsApp, Facebook, Twitter, LinkedIn, YouTube and messenger apps provide service for free, then how do they earn money?

क्या अपने कभी सोचा है की वॉट्सऐप, फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन ,यूट्यूब जैसे सोशल मिडिया

प्लेटफार्म और मेसेंजर एप फ्री में सर्विस देते है तो यह कैसे पैसे कमाते है?

क्या यह समाज सेवा कर रहे है या फिर फ्री सर्विस के पीछे कुछ बिज़नेस है।

इन तमाम सवालों के जवाब हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताएँगे।

दरअसल इन एप कंपनियों की कुल आमदनी, यूजर्स की संख्या और रेवेन्यू मॉडल, कमाई के तरीके बता रहे हैं।

पूरा सिस्टम जानने के बाद शायद आप इन ऐप्स को कभी भी फ्री सर्विस वाले ना कह पाएं

अभ्यासपूर्ण इस स्पेशल आर्टिकल में सबसे पहले वॉट्सऐप पर नजर डालते है।

whatsapp and facebook

वॉट्सऐपः वॉट्सऐप whatsapp के सिर्फ भारत में 40 करोड़ यूजर्स हैं।

वॉट्सऐप पूरी तरह से एक फ्री मेसेंजर एप है।

वॉट्सऐप फिलहाल दो तरीके से पैसे कमाता है।

पहला वॉट्सऐप बिजनेस API सब्सक्रिप्शन से और दूसरा क्लिक 2 वॉट्सऐप ऐड से।

बिजनेस वाले लोगों के लिए वॉट्सऐप बल्क SMS और ऑटो

SMS जैसी प्रीमियम सर्विस देता है। इसके लिए पैसे चार्ज करता है।

इसके अलावा आपने कई ऐड्स देखे होंगे जिसमें डायरेक्ट वॉट्सऐप पर कनेक्ट होने का विकल्प होता है।

इस सर्विस के बदले भी वॉट्सऐप पैसे चार्ज करता है।

इन दोनों तरीकों से 2020 में वॉट्सऐप ने दुनिया भर से 37 हजार करोड़ रुपए कमाए हैं।

फिलहाल वॉट्सऐप पेमेंट और वॉट्सऐप स्टेटस में ऐड्स के जरिए भी कमाई जैसे कई पहलुओं पर काम कर रही है।

अब बात करते है फेसबुक की, फेसबुक एक सोशल नेटवर्किंग साइट है जो भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में पॉपुलर है।

फेसबुक Facebook सबसे ज्यादा कमाई करता है

ऐड से फेसबुक के कमाई में विज्ञापनों की हिस्सेदारी 98% है।

Facebook फेसबुक अपनी वेबसाइट और ऐप पर विज्ञापन देता है।

Facebook ने साल 2020 में 6.38 लाख करोड़ रुपए रेवेन्यू जुटाया है।

इसमें इसमें 45% कमाई US और कनाडा से होती है।

बाकी 55% कमाई दुनिया के बाकी हिस्सों से होती है।

शायद आपको इस पर विश्वास नहीं होगा पर 2020 में भारत से फेसबुक ने 9 हजार करोड़ रुपए कमाए हैं।

जब बात फेसबुक की हो तो ट्विटर को हम कैसे भूल सकते है जी हां।

Tweeter

भारत में ट्विटर के दीवानो (Twitter App ) की कोई भी कमी नहीं है।जहा ट्विटर फ्री में सर्विस देता है

वही कमाई में भी पीछे नहीं है ट्विटर की कमाई के दो बड़े सोर्स हैं।

एडवर्टाइजिंग सर्विस से ट्विटर का 86% रेवेन्यू आता है।

डेटा लाइसेंसिंग और अन्य सोर्स से 14% रेवेन्यू आता है।

2020 में ट्विटर ने 28 हजार करोड़ रुपए की कमाई की है।

इसमें भारत से होने वाली कमाई महज 56 करोड़ रुपए है।

एडवर्टाइजिंग सर्विस में प्रोडक्ट्स का प्रमोशन, ट्वीट्स का प्रमोशन अकाउंट्स का प्रमोशन ट्रेंड्स का प्रमोशन शामिल है।

ट्विटर ने ऐसा सिस्टम बनाया हुआ है कि ऐड सही यूजर की टाइमलाइन पर दिखता है।

इसके अलावा ऐसे लोग जो ट्विटर पर हिस्टोरिकल और रियल टाइम डेटा देखना चाहते हैं उनके लिए सब्सक्रिप्शन मॉडल है।

जहां ट्विटर हिंदुस्तान में‌ high प्रोफाइल लोगो के लिए स्टेटस का सिम्बॉल है

वही लिंक्डइनः भी भारत में उच्चे और शिक्षित लोग में स्टेटस की निशानी है।

linkedin

लिंक्डइन Linkedin की बेसिक सर्विस फ्री है, लेकिन बहुत कम लोगो को पता है

की लिंक्डइन अलग-अलग सर्विस के लिए ये पैसे चार्ज करता है।

Linkedin लिंक्डइन रिक्रूटर सर्विस से लिंक्डइन का 65% रेवेन्यू आता है।

लिंक्डइन Linkedin की प्रीमियम सर्विस के जरिए 17% रेवेन्यू आता है। लिंक्डइन अपने प्लेटफॉर्म पर

एडवर्टाइजिंग के जरिए 18% रेवेन्यू कमाता है।

कंपनियां, ब्रांड्स और अपने ऐड शोकेस करवात हैं।

2018 के आंकड़ों के मुताबिक लिंक्डइन का भारत में रेवेन्यू 548 करोड़ रुपए था।

आज लिंक्डइन लगभग 2000 करोड़ के करीब पहुंच गया है.

और साल 2020 में लिंक्डइन ने 46 हजार करोड़ रूपये कमाए

जब एडवर्टाइजिंग से पैसे कमाने की बात होती है

तो भला युटुब कैसे पीछे रहेगा यूट्यूब की कमाई का प्रमुख सोर्स एडवर्टाइजिंग है।

यूट्यूब प्रीमियम जैसे सब्सक्रिप्शन से भी पैसे कमाता है।

इसके अलावा सुपरचैट, चैनल मेंबरशिप वगैरह से क्रिएटर्स को जो कमाई होती है,

यूट्यूब उसमें भी अपनी हिस्सेदारी लेता है।

साल 2020 में युटुब Youtube ने 2 लाख 36 हजार की कमाई की थी।

शायद इस जानकारी के जरिये आपको पता चल गया होंगे की फ्री में सर्विस देने वाले

यह एप किस तरह लाखो की कमाई करते है इस एपिसोड में बस इतना है।