महिलायें 30 पार करते ही क्यों इन सभी बीमारियों से ग्रसित होती है?

0
147
Why do women suffer from all these diseases as soon as they cross 30?
Especially when women after the age of 30, it is important to be aware of their health, because of the increasing age, due to the change in hormones in our body, feeling excessively tired,

अक्सर देखा गया है कि 30 पार करते ही महिलाओं को विभिन्न प्रकार की बीमारियों से ग्रसित होना पड़ता है

इस वजह से बढ़ते उम्र के साथ खुद की केयर करना ज़रूरी हो गया है ।

लेकिन भागदौड़ की ज़िंदगी खुद के खाने पीने का सही तरह से ख्याल

ना रख पाने की वजह से कई सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

खासतौर पर जब (women’s care) महिलाएं 30 साल के उम्र के बाद अपनी सेहत के सचित होना जरूरी है

दरसअल बढ़ती उम्र को देखते हुए हमारे शरीर मे हॉर्मोर्न्स में

बदलाव की वजह से ज़रूरत से ज्यादा थकान महसूस होना,

सफेद बालों की परेशानी, ज्यादातर तनाव में रहना और चेहरे में कई तरह के रिंकल्स

जैसे कई छोटी छोटी बीमारी हमारे शरीर मे दस्तक देने लगती है

Why do women suffer from all these diseases as soon as they cross 30.

तो आइए जाने कि किस तरह से उपाय करने पर आप हेल्दी लाइफ को महसूस करें तो आइए जाने

1) Fibroid Problem

महिलाओं में अधिकतर फाइब्रॉइड की बीमारी देखी जाती है

जो कि 30 से 40 उम्र की महिला में फाइब्रॉइड की सम्भावना हो सकती है

वैसे यह बीमारी के fibroid symptoms लक्षण जल्द देखने को नहीं मिलते है

लेकिन इसका सही समय पर इलाज ना कराने पर खतरनाक साबित हो सकता है।

यदि आपको इसके लक्षण नही दिखाई दे रहे है तो अल्ट्रासाउंड के द्वारा या

किसी अन्य जांच करके भी पता लगाया जा सकता है।

यदि आपको पेट के नीचे बार बार दर्द बढ़ रहा है तो बिना देरी के डॉक्टर की सलाह लें।

2) infertility problem

यह ज्यादातर आम हो गया है कि महिलाओं (well women) को माँ बनने में कई परेशनियों का सामना करना पड़ जाता है

जिसकी वजह है इनफर्टिलिटी का कम होना वो इसलिए कि 30 के बाद हमारी इनफर्टिलिटी में 30 उम्र के बाद कुछ हद तक कम होने लगती है

जिससे माँ बनने में काफी दिक्कतें आने लगती है। गर्भपात और शिशु के लिए भी हानिकारक हो सकता है।

ऐसे कॉमन कई बीमारियों का सामना करना पड़ जाता है और ऐसी कई बीमारियां है

जिसका उल्लेख हमने पहले आर्टिक्ल में दर्शाया है

जहां आपको उपाय भी बताए गये है यहां आपको आगे बताते है कि ऐसे कौनसे टिप्स अपनाए  तो आइए जाने।

1) अपने ब्लड प्रेशर को संतुलन बनाये रखने के लिए सोडियम का सेवन ज्यादा ना करें उसकी जगह सेंधा नमक का इस्तेमाल करें।

2) ऐसे भोजन करें जिसमें फेट कम मात्रा में हो ऐसा करने से कोई अन्य तरह का वेट शरीर मे नही आ पायेगा

जो एक्स्ट्रा फेट की वजह से बॉडी में हॉर्मोर्न्स को इफ़ेक्ट होने से बचेंगे।

3) 30 उम्र के बाद महिलाओं (women wellness) को कैलोरी 7% requiere कम हो जाती है इसलिये 30 पार करते है

डेली डाइट में 70% कैलोरी को कम कर देना चाहिए।

4) आयरन हमारे बॉडी के लिए बहुत ज़रूरी है क्योंकि 30 के बाद आयरन का सेवन भरपूर मात्रा में करना चाहिए

क्योंकि एनीमिया की शिकायत होने लगती है इसलिए आयरन का सेवन बहुत महत्वपूर्ण है

इससे इम्युनिटी सिस्टम अच्छा रहता है एनीमिया की परेशानी पैदा नही हो पाती है।

5) जिसमें ज्यादा मात्रा में फाइबर हो उन सभी का भोजन करना चहिए।

फाइबर fiber food diet आपके हार्ट से जुड़ी परेशानी होने से बचाएगा और 2 डायबिटीज के खतरे से बचाएगा।

6) केल्शियम भी आपको डाइट चार्ट में शामिल करना चहिए क्योंकि

एक उम्र के बाद हमारी हड्डियों में कई परेशानी भी होने लगती है

जिस कारण हड्डियों को मजबूत बनाये रखने के लिए कैल्शियम का सेवन भरपूर मात्रा में करें।