महिलाओं में यह बीमारी आम क्यों हो गई है जाने इसके कुछ खास उपाय।

0
112
common diseases in females
Why are some diseases more common in females

ऐसा देखा गया है कि महिलायें घर और ऑफिस के बीच अपने स्वास्थ्य को अनदेखा कर देती है

जिससे कि अनके प्रकार की बीमारियों का सामना करना पड़ जाता है

साथ ही खान पान , रहन सहन की वजह से भी सीधा असर स्वास्थ्य पर पड़ता है

इसलिए महिलाओं की ऐसी कई बीमारियां है

जो आम हो गई है लेकिन इसका इलाज सही समय पर ना कराया गया तो गम्भीर

समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता है।

इस कारण यह बहुत जरूरी है

कि महिलाओं को समय समय पर अपना रूटीन चेकअप करवाना ज़रूरी है।

तो आइए जाने कौनसी बीमारियां महिलाओं में आम हो गई है

PCOS / PCOD

Polycystic ovarian syndrome
Polycystic ovarian syndrome

Polycystic ovary syndrome symptoms या disease जो आज के समय मे यह बीमारी 90% लोगों को होने लगी है

यह बीमारी काफी आम हो गई है इसलिए काफी लोग इसे हल्के में ले जाते है

जो आगे चलकर नुकसान पहुंचा सकती है।

पीसीओस एक तरह की मेटाबॉलिक डिसऑर्डर है

जो कि महिलाओं के हॉर्मोर्न्स को असंतुलन करता है ओवरी में छोटी छोटी सिस्ट बन जाती है

और फीमेल हॉर्मोर्न्स कम हो जाते है,

जिस कारण पीरियड्स से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ जाता है

इंसुलिन अधिक मात्रा होने से मधुमेह की बीमारी भी हो सकती है।

इसके उपाय –

1) Gynaecologist dr dipti jain कहती है कि अपनी डाइट को करें कंट्रोल जिसमें

आपको ज्यादातर प्रोटीन को अपने आहार में लेना है और कर्ब्स और फैट को कम करना है

साथ ही मैग्नीशियम और जिंक के फ़ूड लें रोजाना और फाइबर का सेवन करें ।

2) डॉक्टर दीप्ति जैन आगे बताती है दालचीनी और हल्दी का सेवन करने से भी 

इंसुलिन को कम करने में सहायक होती है

यह आपके पीसीओडी या पीसीओस में काफी ज्यादा लाभदायक सिद्ध होता है।

3) डॉक्टर दीप्ति जैन योगा का सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण बताते हुए आगे कहती है

कि एक्ससाइज हमारी कई तरह की बीमारी को ठीक करता है।

इसके लिए रोजाना नियमित तौर पर व्यायाम या योगा करें।

Vitamin D

vitamin d deficiency
vitamin d deficiency disease in women

रिसर्च के अनुसार पूरे देश में 70 से 75 प्रतिशत महिलाओं में  अक्सर विटामिन डी की कमी पाई जाती है

जिस कारण उन्हें जल्दी थकान, जोड़ो में अनावश्यक दर्द ,

पैरों में सूजन होना, मासपेशियों का कमजोर होना आदि की समस्याओं से जूझना पड़ जाता है।

डॉक्टर के अनुसार जो महिलाएं पीरियड्स की वजह से जो परेशानी होती है

उसका एक मुख्यकारण है विटामिन डी की कमी ।

महिलाओं को अपने खान पान के साथ सुबह की धूप का आनद भी लेना चाहिए ।

खान पान में आपको पनीर, दूध, अंडे, मछली, मशरूम,

संतरे का रस जैसे चीजों का सेवन करना चहिए।

Cervical Cancer

Cervical Cancer
Cervical Cancer disease in women

भारत मे सर्वाइकल कैंसर पुरुषों से ज्यादा महिलाओं में पाया जाता है

जिसका आंकड़ा 2 लाख के लगभग होने लगा है यही वजह है

कि डॉक्टर प्रेणना लखवानी कहती है कि यदि आपको दो महीनों एक बार पीरियड्स हो रहे है

सामान्य पीरियड्स से ज्यादा होना, सफेद पानी की शिकायत,

या अनियमित मासिक धर्म आना या पति के साथ संभोग करने के बाद ब्लीडिंग ज्यादा हो रही है

यह सारे लक्षण सर्वाइकल केंसर के हो सकते है यदि जिन महिलाओं में एडवांस लक्षण हो

उनको पेट दर्द और पीट का दर्द असहनीय होता है यही एक वजह है

इस समस्या को गम्भीर लेवें और अपने डॉक्टर के अनुसार चेकअप करवाएं।

जिससे कि आपका सही समय पर इलाज हो सकता है।

Anemia Disease

symtoms of Anemia
symtoms of Anemia

हमारे विश्व मे महिलाएं काम मे इतनी ज्यादा काम मे व्यस्त रहती है

कि खुद के लिए समय नहीं निकाल पाती है इसलिए इसका असर  सीधा उनके स्वास्थ्य पर होने लगता है

जिसमें उन्हें खून की कमी जैसी बीमारी की समस्या होने लगती है

यह आयरन , विटामिन बी12 और फोलिक एसिड की कमी से होता है

इसकी कमी से ब्लड (RCB,  HB ) की मात्रा   कम हो जाती है

जिसके कारण बॉडी में ऑक्सीजन सप्लाई कम हो जाती है इसलिए एनीमिया की गम्भीर समस्या उतपन्न होने लगती है । 

यहां तक कि गर्भावस्था में भी खुद का ख्याल नही रखती तो उससे

उनके और उनके बच्चे पर असर होता है जिससे बच्चा कुपोषित पैदा होता है
इसलिये इस कमी को दूर करने के लिए आयरन,

फोलिक एसिड के पदार्थों का सेवन करना चहिए डॉक्टर कहते है

कि डॉक्टर के परामर्श के साथ कुछ नेचरल फ़ूड का भी

सेवन करें जिसमे आयरन की मात्रा ज्यादा हो ।