ऑर्गैनिक फ़ूड की बढ़ती माँग,लोगों में बढ़ती जागरूकता घर पर पैदा कर रहे है सब्ज़ियाँ

0
123
ऑर्गैनिक फ़ूड
ऑर्गैनिक फ़ूड की बढ़ती माँग,लोगों में बढ़ती जागरूकता घर पर पैदा कर रहे है सब्ज़ियाँ

जिस तरह के पेस्टिसायड्ज़ और फ़र्टिलायज़र का इस्तेमाल आधुनिक खेती में हो रहा है

उसके कारण लोगों में बीमारियों का ख़ौफ़्फ़ भी बढ़ रहा है।

विशेषज्ञों के अनुसारक अगर आप जंक फ़ूड ना खायें साधारण जीवन शैली के साधारण

भोजन भी करे तो भी(Healthy Diet) आपमें टाइप-2 डाईबिटीज(Increasing demand for organic food) होने की पूरी संभावना है।

आज के समय में केमिकल्स का जितना उपयोग खेती में हो रहा है वही हम अप्रत्यक्ष रूप से अपने खाने में स्लो पॉइज़ोन के रूप में ले रहे है।

पंजाब में हरित क्रांति के बाद जिस तरह से यूरिया पेस्टिसाइड(Health and Fitness) अनेको केमिकल का उपयोग किया गया

आज पंजाब के हालात आप भी जानते है वहाँ लाखों लोग कैंसर से ग्रस्त है।

अगर आप सोच रहे है की फलों का सेवन (सब्जियां, अंडे,)आपके लिए उत्तम है तो याद रखिए फलो को पकाने के लिए

भी केमिकल इंजेक्ट किया जाता है जो आपके स्वास्थ के लिए एकदम उचित नहीं है।

इस चीज़ को ध्यान में रख कर अमेरिका के लोगों ने ऑर्गैनिक फ़ार्मिंग शुरू कर दी है

जिसमें किसी भी प्रकार का कोई केमिकल उपयोग नहीं किया जाता है

नैचरल फ़ार्मिंग(Organic Food) की ओर बढ़ती दुनिया भर के देशों ने माना है की ओर्गानिक खेती ही हमारे स्वास्थ के लिए अति उत्तम है।

Also Read बालों को झड़ने और पतले होने से रोकने के लिए कुछ घरेलू नुस्ख़े जो रखेगा आपके बालों को स्वस्थ और मज़बूत

18 सितम्बर 2020 को भारत सरकार ने एक योजना बनाई जिसे परमपरागत कृषि विकास योजना के नाम से जाना गया।

इस योजना के तहत किसानो को ओर्गानिक खेती करने के लिए प्रेरित किया गया।

केमिकल, फ़र्टिलाईजर और पेस्टिसायड का प्रयोग शून्य करने की इस योजना से ओर्गानिक खेती को बढ़ावा दिया गया।

आप सोच रहे होंगे की अचानक ओर्गानिक की ओर क्यूँ जा रहे है

तो अब ज़रूरत है ओर्गानिक की तरफ़ जाने की वरना मानव तंत्र बिगड़ने में ज़्यादा समय

नहीं लगेगा और आने वाली पीडी पे इसका सीधा असर भी दिखेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here