किशोर आतंकी ने कहा- ‘जिहाद’ में हों शामिल -सीआरपीएफ कैंप पर हमले में मारा गया था आतंकी

0
195

(श्रीनगर)
जम्मू-कश्मीर के त्राल में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी फरदीन अहमद खांडे की अंत्येष्टी का जैश ने वीडियो जारी किया है। इस वीडियों में पुलिस कॉन्स्टेबल का बेटा खांडे इस्लामिक शासन स्थापित करने के लिए कश्मीरियों से भारत के खिलाफ जेहाद में शामिल होने की अपील कर रहा है। हमले से कुछ घंटे पहले फरदीन ने आठ मिनट का यह विडियो रिकॉर्ड किया था। इसमें उसने कहा, ‘जब तक आपके पास यह वीडियो पहुंचेगा, मैं अल्लाह का मेहमान बन चुका होऊंगा।’ दूसरे फिदायीन हमलावर मंजूर बाबा की उम्र 22 साल थी। वह पुलवामा का ही रहने वाला था। वीडियों में खांडे ने ऊर्दू में कहा, ‘जिहाद का बेरोजगारी से कोई ताल्लुक नहीं है जैसा कि भारत दावा कर रहा है। यह कश्मीर में भारत के कब्जे के खिलाफ प्रतिक्रिया है। काफिरों ने हमारी जमीन पर कब्जा कर रखा है और हमारी महिलाओं की लाज दांव पर है, इसलिए जिहाद हमारी ड्यूटी बन गया है। आजादी के लिए लड़ाई लड़ना आपकी ड्यूटी हो गया है।’ वीडियो में अत्याधुनिक हथियारों के साथ दिख रहे आतंकी ने कहा कि कश्मीर लोग जिहाद में शामिल हों। उसने कहा, ‘ भारत ने अपनी बेहतरी के लिए हमारे संसाधनों पर कब्जा कर लिया है। हमारी महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं और मर्दों को भारतीय सेना प्रताड़ित कर रही है।’ बता दें, खांडे और जैश के दो अन्य फिदायीन आतंकियों ने रविवार को पुलवामा में सीआरपीएफ के ट्रेनिंग कैंप पर हमला किया था। इस हमले में पांच जवान शहीद हो गए थे। खांडे के पिता कुछ महीने पहले तक आईजी कश्मीर मुनीर खान की सुरक्षा में तैनात थे। बाद में उनके बेटे के आतंकी संगठन में शामिल होने की जानकारी मिलने के बाद उन्हें सुरक्षा से हटा दिया गया था। फरदीन की उम्र केवल 17 साल थी। वह 10वीं में पढ़ाई कर रहा था, तभी उसका ब्रेन वॉश कर दिया गया और वह आतंकी बन गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here