भारत में ब्लैकलिस्टेड होंगी चीन की आठ प्रमुख दवा कंपनिया

0
219

नई दिल्ली 
केंद्र सरकार ने चीन की आठ प्रमुख कंपनियों को कारण बताओ नोटिस जारी किए हैं। जानकारी के मुता‎बिक सरकार इन कंपनियों को ब्लैकलिस्टेड करने पर भी विचार कर सकती है। इन कंपनियों पर आरोप है कि ये देश में ड्रग निर्माताओं के लिए खराब गुणवत्ता वाले कच्चे माल की आपूर्ति कर रही रही हैं। ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआई) की एक विशेष निरीक्षण टीम ने इन आठ चाइनीज कंपनियों की जांच के बाद ये नोटिस जारी किए थे। डीसीजीआई के सूत्रों के अनुसार ब्लैकलिस्ट किए जाने की कगार पर खड़ी ये कंपनियां वर्तमान में भारतीय दवा निर्माताओं के लिए कच्चे माल का एक बड़ा हिस्सा सप्लाई कर रही हैं। डीसीजीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि अगर आरोप सही पाए जाते हैं तो इनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। सूत्रों का यह भी कहना है कि अगर इन चाइनीज कंपनियों के खिलाफ सरकार की कार्रवाई होती है तो कुछ महीनों तक भारत में कैंसर जैसी बीमारियों के लिए दवाओं की आपूर्ति में कमी देखी जा सकती है। रसायन मंत्रालय के आंकड़े बताते हैं कि भारत अपने यहां दवाओं के लिए 70 प्रतिशत कच्चे माल के आयात पर निर्भर है।