खूद को मंत्री आरिफ अकील का भांजा बताकर 15 दिन से सर्किट हाउस मे रुका था यूवक

0
260
मंत्री से बातचीत मे खूली यूवक की पोल
मंत्री से बातचीत मे खूली यूवक की पोल

मंत्री से बातचीत मे खूली यूवक की पोल

भोपाल-प्रदेश के भिंड जिले के सर्किट हाउस में एक युवक द्वारा अपने आप को प्रभारी मंत्री आरिफ अकील (Arif Akil) का भांजा बताकर कई दिनों से अवैध रूप से रुकने का मामला सामने आया है। बताया गया है की यह यूवक सर्किट हाउस (Circuit House ) के एयर कंडीशनर कमरा नम्बर 3 में सरकारी सेवाओं का इस्तेमाल कर ठाठबाठ से रह रहा था।

बीते दिन इसकी पोल उस समय खुली जब यहॉ भिंड दौरे पर पहुंचे प्रभारी मंत्री से मीडिया कर्मियों ने इस बात को लेकर सवाल किया।

इस सवाल के जवाब मे प्रभारी मंत्री ने कहा कि मेरा कोई भांजा यहॉ नही ठहरा है, ओर जिस यूवक का नाम बताया जा रहा है, वो उसे नही पहचानते। जिसके बाद पुलिस ने युवक को हिरासत में लेकर उससे पूछताछ की। जानकारी के अनुसार सरकारी संपत्ति के दुरुपयोग के इसहाईप्रोफाइल मामले मे युवक खुद को प्रभारी मंत्री आरिफ अकील का भांजा बताते हुए 15 दिन से सरकारी सर्किट हाउस में रुका हुआ था, मामले पर जब भिंड दौरे पर आए प्रभारी मंत्री से बात की गई तो उनका कहना था कि उनका कोई भांजा यहा नहीं रुका है।

इसके साथ ही उन्होने आगे कहा की यदि अगर ऐसा कोई कर रहा है

तो उसके खिलाफ एफआईआर (FIR) होनी चाहिए। पुलिस ने आरोपी युवक को हिरासत में ले लिया। जानकारी के अनुसार पिछले 15 दिनों से एक जमील नाम का यूवक भिंड के सर्किट हाउस में कमरा नंबर 3 में रुका हुआ था। यह यूवक अपने आप को भिंड के प्रभारी मंत्री आरिफ अकील का भांजा बता कर सर्किट हाउस में रुका हुआ था।

बीते दिन भिंड दौरे पर आए प्रभारी मंत्री से इस में पूछा गया तो उन्होंने मामले से पल्ला झाड़ते हुए कहा कि उनका कोई भांजा वहां नहीं रुका वह किसी ऐसे व्यक्ति को नहीं जानते आप चाहे तो उसके खिलाफ एफआईआर कर उसे गिरफ्तार करवा दें। इसके पुलिस ने युवक को हिरासत में ले लिया और उससे पूछताछ शुरु कर दी।

सूत्रो के अनुसयार इस मामले मैं पुलिस की भूमिका भी संदेह के घेरे में हैं

क्योंकि युवक को तुरंत देहात थाना ले जाकर वेरीफिकेशन के निर्देश सीएसपी डीएस बैस द्वारा दिए जाने के बाद भी देहात थाना प्रभारी आरोपी शख्स को डेढ़ घंटे तक एयर कूल्ड कमरे में बैठाए रखा। सुत्रो का यह भी कहना है की पुलिस ने यूवक को पूछताछ के बाद छोड दिया है। सुत्रो का कहना है की खुद को मंत्री आरिफ अकील का भांजा बताकर शासकीय संपत्ति के दुरुपयोग के आरोपी यूवक पर रेत के अवैध खनन में शामिल होने का भी संदेह है ,क्योंकि कैमरे में ट्रैप होते वक्त उस कमरे में खनिज अधिकारी आरपी भदकारिया समेत कई अन्य अधिकारी भी जमील के साथ थे। इस पूरे मामले पर भिंड विधायक संजीव को सिंह कुशवाह ने भी मामले की जांच की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here