मध्य प्रदेश में सरकार को खतरा नहीं, पॉंच साल का कार्यकाल पूरा करेंगे

0
13

उच्च श‍िक्षा मंत्री ,मुख्यमंत्री चाहेंगे, तो इस्तीफा दे दूंगा – जीतू पटवारी


इन्दौर – प्रदेश के उच्च श‍िक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि लोकसभा चुनाव में मिली हार के बावजूद हमारी सरकार को ख़तरा नहीं है, हम पॉंच साल का कार्यकाल पूरा करेंगे और फ‍िर अपने कामों का लेखा-जोखा लेकर जनता के सामने जायेंगे।


मंत्री पटवारी शुक्रवार को इन्दौर प्रेस क्लब में पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। उनके साथ कांग्रेस के हारे प्रत्याशी पंकज संघवी और कार्यवाहक शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल भी मौजूद थे। प्रदेश में कांग्रेस सरकार को गिराने की जारी अटकलों के सवाल पर पटवारी ने आरोप लगाते हुए कहा कि यहां विपक्ष में बैठी भाजपा षड़यंत्र कर रही है। भाजपा प्रदेश में मिली हार को पचा नहीं पा रही है, यहीं वजह है कि नौकरशाहों में वे अस्थ‍िरता और भय कायम करके हमारी सरकार को लोकहितैषी काम करने से रोकना चाहती है।

जीतू पटवारी ने कहा कि लोकसभा चुनाव परिणाम हमारे पक्ष में भले ही नहीं रहे

परन्तु हमारे सभी कार्यकर्ताओं ने चुनाव में जो अटूट मेहनत की है, उसके लिए उन्होंने उनका और जनता का आभार व्यक्त किया। भाजपा के विजयी प्रत्याशी को बधाई देते हुए उन्होंने आशा व्यक्त की कि वे इन्दौर को देश के प्रमुख पॉंच शहरों में शामिल करने के लिए सक्रिय रूप से प्रयास करेंगे। केन्द्र व राज्य की सभी योजनाओं को इन्दौर में लागू करने के साथ ही शहर को हर क्षेत्र में उन्नत करने के लिए कार्ययोजना बनायेंगे। हम राज्य सरकार से भी पूरा सहयोग दिलाने की कोश‍िश करेंगे। उन्होंने कहा कि देश की जनता ने देश के विकास की जिम्मेदारी नरेन्द्र मोदी की सरकार को दी है। हम जनता के इस फैसले का स्वागत करते है और उम्मीद करते है कि वह विश्व में भारत को नम्बर एक बनायेंगे।

इस कार्य में कांग्रेस उनका पूरा सहयोग करेगी। उन्होंने कहा कि जनता द्वारा दिए गए आदेश में नुक्स निकालना वोट का अपमान है।

अपनी हार का कोई एक कारण बताने के बजाए जमें यह स्वीकारना होगा कि जनता ने उन्हें चुना है। हम जनादेश का आदर करते हैं। अपनी बात जनता को समझाने में हम नाकामयाब रहे। कार्यकर्ताओं ने जी-जान से मेहनत की, लेकिन लोगों ने मोदी को जिताने का मन बना रखा था। जनता का मन पढ़ने में हम असफल हुए। अपने गृह नगर कांग्रेस को मिली सबसे बड़ी हार के चलते उनके इस्तीफे के संदर्भ में पूछे गये सवाल के जवाब में मंत्री पटवारी ने कहा कि मंत्री बनाना और मंत्री पद से हटाना, यह मुख्यमंत्री का विशेषाध‍िकार का मामला है। इस संबंध में उनका जो निर्णय होगा, वो मुझे मान्य होगा, वे चाहेंगे तो मैं इस्तीफा भी दे दूंगा। नगर अध्यक्ष बाकलीवाल के इस्तीफे को लेकर उन्होंने कहा कि वे प्रभारी अध्यक्ष हैं। इस बारे में तो अध्यक्ष प्रमोद टंडन से पूछा जाना चाहिए।

जनता ने कांग्रेस को प्रदेश के लिए और मोदी को देश के लिए चुना


एक सवाल के जवाब में पटवारी ने कहा कि विधानसभा और लोकसभा दोनों चुनाव में मुद्दे अलग होते हैं। विधानसभा चुनाव में जनता ने कांग्रेस को जनादेश दिया था और लोकसभा चुनाव में मोदी की अगुवाई में भाजपा को देश के लिए चुना है। नरेन्द्र मोदी अब हम सबके ‘प्रधानमंत्री’ है, मिलजुलकर देश की प्रगति के लिए काम करेंगे। ईवीएम में गड़बड़ी के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस बारे में पार्टी के वरिष्ठ नेता निर्णय लेंगे। राहुल गांधी की भूमिका को लेकर पटवारी ने कहा कि वे उन्होंने पहले भी अच्छे विपक्ष की भूमिका निभाई है और आगे भी निभाते रहेंगे।

संघवी ने स्वीकारा जनता का निर्णय

पराजित प्रत्याशी पंकज संघवी ने कहा कि जनता ने जो निर्णय दिया है, वे उसका सम्मान करते हैं। वे हार के लिए किसी को जिम्मेदार नहीं ठहराएंगे। उन्होंने कहा- हवा ही ऐसी थी कि सब हार गए। सबके साथ मैं भी हार गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here