रक्षा मंत्री ने किया एयरो इंडिया शो का उद्घाटन, आसमान में उड़ान भरता दिखा राफेल

0
111
Rafael fighter aircraft

बेंगलुरु एयरो इंडिया 2019 का आगाज हो गया है। 24 फरवरी तक चलने वाले एशिया के सबसे बड़े मिलिट्री एविएशन शो का रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने उद्घाटन किया। इसके बाद बेंगलुरु के आसमान में पहली बार राफेल लड़ाकू विमान उड़ान भरकर आसमान में करतब दिखाए। राफेल डील को लेकर पिछले काफी समय से राजनीति हो रही है।

शो में राफेल के अलावा करतब दिखाने वाले सुखोई और तेजस जैसे अन्य फाइटर जेट व सारंग हेलिकॉप्टरों ने वहां मौजूद लोगों का उत्साह दोगुना कर दिया।

रनवे टू बिलियन ऑपट्यूनिटीज थीम पर आयोजित एशिया की सबसे बड़ी विमानन प्रदर्शनी में शुमार ‘एयरो इंडिया’ दुनिया के 100 से भी अधिक देशों के स्वागत के लिए अब तैयार है। इस प्रदर्शनी में रक्षा क्षेत्र से जुड़े तमाम रक्षा उपकरणों को प्रदर्शित किया जाएगा। प्रदर्शनी में विमानन क्षेत्र के बड़े निवेशक और वैश्विक नेताओं के साथ दुनिया के कई थिंक टैंक कार्यक्रम में शिरकत करते नजर आएंगे।

एयरो इंडिया’ विमानन क्षेत्र में हो रही प्रगति और नए विचारों को दुनिया से साझा करने के लिए बड़ा मंच है।

जिसमें भारत का मकसद मेक इन इंडिया को बढ़ावा देना है। इस बार की प्रदर्शनी में रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन डीआरडीओ भी बड़े पैमाने पर हिस्सा ले रहा है और करीब 250 प्रणालियों, तकनीकों, क्रियाशील नमूनों और हाल में किए गए नवाचार का प्रदर्शन कर रहा है।

भारत दुनिया में हथियारों का सबसे बड़ा बाजार हैं, इसकारण दुनिया भर की हथियार बनाने वाली कंपनियों की नजर हर साल भारत में आयोजित होने वाले ‘एयरो इंडिया’ पर रहती है, इसी के चलते अमेरिका की बोइंग तो वहीं फ्रांस की राफेल जैसी बड़ी कंपनिया भी इस कार्यक्रम में भाग लेने पहुंची है। सुपरसोनिक स्पीड में जैसे ही राफेल बेंगलुरु के येलाहांका एयरबेस के ऊपर से गुजरा, सबकी नजरें उसी पर टिक गईं।


इससे पहले सारंग हेलिकॉप्टरों ने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण को खास अंदाज में सलामी दी थी।

इसके अलावा तेजस, सुखोई-30 एमकेआई, एचएएल द्वारा निर्मित एलसीएच लाइट कॉम्बैट हेलिकॉप्टर के करतब देखकर सबकी सांसें एक पल को थम गईं। कार्यक्रम में रक्षामंत्री के अलावा कार्यक्रम में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु और रक्षा राज्य मंत्री सुभाष भामरे भी मौजूद रहे।

इस मौके पर सुरेश प्रभु ने कहा, भारत 2300 नए एयरप्लेन खरीदने की तैयारी कर रहा है।

इसके अलावा हम एक रोडमैप पर काम कर रहे हैं जिसके जरिए एविएशन इंडस्ट्री के लिए भारत मैन्युफैक्चरिंग हब बनकर उभरे।’ बता दें कि एयरो इंडिया शो से एक दिन पहले मंगलवार सुबह येलाहांका एयरबेस पर दो सूर्य किरण 7 विमान आपस में टकराकर क्रैश हो गए। इसलिए एयरो शो में सूर्य किरण के विमान शामिल नहीं होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here