राहुल गांधी को फिर से ‘चुनौती’ दे पाएंगी स्मृति इरानी?

0
17
Rahul and priyanka on car in rely

राहुल ने नामांकन दा‎खिल करने से पहले ‎निकाला रोड शो

अमेठी- उत्तर प्रदेश की अमेठी लोकसभा सीट पर इस बार संशय का माहौल बना हुआ है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूरे दल-बल के साथ यहां से पर्चा दा‎‎खिल ‎किया है।

वही गुरुवार को यहां से भाजपा की उम्मीदवार स्मृति इरानी नामांकन दा‎खिल करेंगी। राहुल ने नामांकन करने से पहले बहन प्रियंका गांधी, जीजा रॉबर्ट वाड्रा और उनके दोनों बच्चे रिहान और मियारा के साथ तीन किलोमीटर लंबा रोड शो ‎निकालकर शक्ति प्रदर्शन किया। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल इस बार दो लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने कुछ दिन पहले केरल के वायनाड सीट से भी नामांकन किया है। वहीं राहुल के दो सीटों से चुनाव लड़ने की घोषणा के बाद से ही अमेठी की हवाओं में सुगबुगाहट तेज हो गई है। ऐसी भी चर्चा चल रही है कि राहुल वायनाड से इसलिए चुनाव लड़ रहे हैं कि उनकी अमेठी में स्थिति कमजोर है।

उत्तर प्रदेश की अमेठी लोकसभा सीट गांधी परिवार की वजह से हमेशा चर्चा में रही है।

गांधी परिवार यहां शुरू से ही हावी रहा और 1967 से लेकर अब तक यहां सिर्फ दो बार ऐसा हुआ है जब कांग्रेस ने लोकसभा का चुनाव न जीता हो। वर्तमान में अमेठी लोकसभा क्षेत्र के अंदर पांच विधानसभा क्षेत्र (अमेठी, गौरीगंज, तिलोई, जगदीशपुर और सलोन) आते हैं। 2004 के लोकसभा चुनाव में अमेठी से अपनी सियासी पारी का आगाज करने वाले राहुल यहां जीत की हैट्रिक लगा चुके हैं। एक बार फिर उनके सामने भाजपा की ओर से स्मृति इरानी चुनौती देंगी।

अमेठी के वर्तमान सांसद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी हैं।

राहुल गांधी पहली बार अमेठी से 2004 में चुनाव लड़े और तब से अब तक वह यहां के सांसद हैं। आमतौर पर बाकी पार्टियां कांग्रेस को इस सीट पर वॉकओवर देती आई हैं लेकिन 2014 में भाजपा ने यहां से स्मृति इरानी को उतारकर मुकाबले को काफी रोमांचक बना दिया था। 2014 में आम आदमी पार्टी (आप) की ओर से कवि कुमार विश्वास भी मैदान में उतरे लेकिन वह कोई खास चुनौती नहीं पेश कर सके और चौथे स्थान पर रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here