मराठा आरक्षण आंदोलन ने लिया हिंसक रूप, कई जगहों पर तोड़ा फोड़ी

0
205

National News – महाराष्ट्र में मराठा समुदाय के लिए आरक्षण की मांग को लेकर चल रहा राज्यव्यापी प्रदर्शन हिंसक हो गया है।

ये प्रदर्शन इतना हिंसक हो गया हैं की इस में एक कांस्टेबल की मौत हो गई जबकि नौ अन्य जख्मी हो गए। कांस्टेबल की मौत प्रदर्शनकारियों के पथराव की वजह से हुई। बता दे की आज मराठा क्रांति मोर्चा ने मुंबई बंद का आह्वान किया है. इस बीच मुंबई में सुबह कई जगहों पर बेस्ट बसों पर पथराव किया गया।

बताते चले की नवी मुंबई में स्कूल-कॉलेज बंद रखे गए हैं। ठाणे और जोगेश्वरी में लोकल ट्रेनों को भी रोका गया। इस कारण लोगों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा। प्रदर्शनकारियों इतने हिंसक हो गए हैं की कई गाड़ियों को भी फूंक दिया हैं। साथ ही दो प्रदर्शनकारियों ने खुदकुशी करने की भी कोशिश की हैं।

महाराष्ट्र बंद का सबसे ज्यादा असर औरंगाबाद और आसपास के जिलों में देखने को मिला है। जहां कल आरक्षण के पक्ष में निकाले गए मार्च के दौरान एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई थी। बता दे की औरंगाबाद में किसान जगन्नाथ सोनावने ने आरक्षण की मांग को लेकर जहर खा लिया। उसे तत्काल अस्पताल में भर्ती किया गया, लेकिन उसकी मौत हो गई।

शिवसेना सांसद से धक्कामुक्की

पुलिस ने बताया कि शिवसेना सांसद चंद्रकांत खैरे पर भी प्रदर्शनकारियों का गुस्सा जमकर फूटा। भीड़ ने उनके साथ धक्का – मुक्की की। उन्हें स्थान छोड़ना पड़ा। पुलिस ने बताया कि सांसद की गाड़ी पर भी पथराव हुआ था। बता दे की चंद्रकांत खैरे, शिंदे के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए औरंगाबाद के कायगांव गए थे।

लाठी चार्ज और आंसू गैस का लिया सहारा

भीड़ को संभालने के लिए पुलिस कर्मियों ने लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले दागे। एक अधिकारी ने बताया कि जलना के घनसांगवी थाने पर प्रदर्शनकारियों के पथराव में आठ पुलिसकर्मी जख्मी हो गए।

उन्होंने बताया कि कायगांव में प्रदर्शनकारियों ने दमकल की एक गाड़ी को भी आग लगा दी। प्रदर्शनकारियों ने लातूर जिले के निलांगा तहसील में हैदराबाद-लातूर बस पर भी पथराव किया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here