डायबीटीज़ जैसी खतरानक बिमारी से रहना हैं दूर तो खाए यह

0
140

Health News – इन दिनों कम उम्र में ही डायबीटीज़ जैसी खतरानक बिमारी के मामले सामने आ रहे हैं। डायबीटीज़ जैसी बीमारी होने का मुख्य कारण हैं खान पान।

अगर देखा जाए तो आज के लोग ज़्यदातर फ़ास्ट फ़ूड खाना पसंद करते हैं। हर रोज़ फ़ास्ट फ़ूड खाने से न केवल आप डायबीटीज़ का शिकार होते हैं बल्कि कई और बीमारियों को भी आप बुलावा देते हैं।

अगर आप भी डायबीटीज़ जैसी खतरानक बिमारी से जुंज रहें हैं तो आज से ही अखरोट का सेवन शुरू करे।

रोज़ाना अखरोट खाने से डायबीटीज़ के होने का खतरा लगभग आधा रह जाता है। जबकि अखरोट नहीं खाने वालों में इसका खतरा दोगुना होता है। अखरोट एंटीऑक्‍सीडेंट से भरपूर भरा होता हैं। इसके अलावा अखरोट में ओमेगा-3 फैटी एसिड, पॉलिसैचुरेटिड फैट और अल्‍फा लाइनोलेनिक एसिड प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इसमें प्रोटीन और फाइबर की भी अधिकता होती है। इतना ही नहीं बल्कि रोजानन कम से कम आधा कप अखरोट का सेवन करने से पाचन दुरुस्‍त रहता है। साथ ही दिल और दिमाग से जुड़ी बीमारियों का खतरा भी कम होता है।

जाने अखरोट खाने के और फायदे

दिल को रखता है स्वस्थ-

अखरोट आपके दिल को बीमारियों से बचाने में भी मदद करता है। अखरोट को ऐसे ही बिना किसी सैचुरेटेड फैट वाली चीज के साथ खाएं। यह अपने दिल की हिफाजत के लिए अखरोट को रोजाना अपने आहार में शामिल करें। हाई बीपी का मुख्य कारण तनाव है। तनाव ही आपके ब्लड प्रेशर को बढ़ा कर परेशानियां पैदा कर देता है।

कोलेस्ट्रॉल कम करता है-

अखरोट में ओमेगा 3 की उपस्थिति ही शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में सहयोग देती है। इसके अलावा पित्ताशय को ठीक रख उसे सुचारु रूप से कार्य करने में भी मदद देती है।

ऐंटीऑक्सिडेंट गुणों से भरपूर-

अखरोट ऐंटीऑक्सिडेंट का बड़ा स्रोत है। इसमें ओमेगा 3 ऐसिड भी उच्च मात्रा में पाया जाता है जो शरीर को होने वाले नुकसान को ठीक करता है। यह शरीर के लिए एक जरूरी वसीय अम्ल है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here