मप्र की 8 सीटों समेत देश की 59 सीटों पर मतदान – बंगाल में 2 की मौत

0
17
मप्र की 8 सीटों समेत देश की 59 सीटों पर मतदान

भोपाल – लोकसभा चुनाव के छठे चरण के लिए रविवार को भोपाल समेत प्रदेश की 8 और सात राज्यों की 59 सीटों पर मतदान हो रहा है। मतदान के दौरान मतदाताओं में गजब का उत्साह दिख रहा है। भोपाल में सुबह से ही बूथों पर लंबी लाइनें लग गई थीं। प्रदेश में तीसरे चरण की आठ लोकसभा सीटों पर आज मतदान शुरू हो गया है। भोपाल, विदिशा, राजगढ़, गुना, ग्वालियर मुरैना, भिंड और सागर के लिए मतदान जारी है।

ग्वालियर-चंबल इलाके में बड़े नेताओं को नजरबंद कर दिया गया है।

उन्हें सिर्फ वोट देने की अनुमति दी गई है। कांग्रेस पूर्व विधायक हेमंत कटारे सहित कई नेताओं के घरों के बाहर पुलिस तैनात कर दी गई है। देश की बात करें तो बंगाल इस बार भी हिंसा से अछूता नहीं रहा है। मतदान शुरू होने से पहले भडक़ी हिंसा में टीएमसी और भाजपा के एक-एक कार्यकर्ता की मौत हो गई, जबकि कई लोग घायल हैं। तीसरे चरण में दोपहर 1 बजे तक 42 फीसदी वोटिंग हो चुकी है।

प्रदेश में एक करोड़ 44 लाख मतदाता 138 प्रत्याशी


प्रदेश के तीसरे चरण में एक करोड़ 44 लाख मतदाता 138 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे। इनमें 14 महिला और 124 पुरुष प्रत्याशी शामिल हैं। यहां 16 जिलों में 18 हजार 141 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। चुनाव शांतिपूर्वक कराने के लिए केंद्र और राज्य के 45 हजार 53 सुरक्षाकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। मतदान के दिन किसी भी स्थिति से निपटने के लिए 446 क्विक रिस्पांस टीम गठित की गई हैं, तो इस चरण में आने वाले जिलों के 101 अंतरराज्यीय और 128 अंतरजिला नाके सील कर दिए गए हैं। मुरैना सीट सबसे संवेदनशील है, पिछले चुनावों की तरह यहां प्रत्याशियों को निगरानी में रखा जा सकता है।

ग्वालियर-चंबल में बड़े नेताओं को किया नजरबंद


ग्वालियर-चंबल इलाके में बड़े नेताओं को नजरबंद कर दिया गया है। उन्हें सिर्फ वोट देने की अनुमति दी गई है। कांग्रेस पूर्व विधायक हेमंत कटारे सहित कई नेताओं के घरों के बाहर पुलिस तैनात कर दी गई है। हालांकि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है, यहां होने वाले हर चुनाव में इसी तरह नेताओं को नजरबंद किया जाता रहा है। विधानसभा चुनाव में भी सभी बड़े नेताओं को एक साथ नजरबंद कर दिया गया था।

साध्वी-सिंधिया ने किया मतदान

भोपाल में भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने मतदान किया। मतदान से पहले वे सुबह सबसे पहले मंदिर पहुंची और वहां दर्शन करने के बाद पोलिंग बूथ पहुंचकर मतदान किया। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एमआई शिशु मंदिर में सुबह-सुबह मतदान किया।

कई जगह ईवीएम खराब


भोपाल में मशीन में खराबी की वजह से कई जगह समय पर शुरू नहीं हुआ मतदान। भोपाल में बूथ क्रमांक 154, 348 बरकतउल्ला विश्वविद्यालय की वोटिंग मशीन में खराबी आने की वजह से वोटिंग समय पर शुरू नहीं हो सकी। चार इमली के मतदान केंद्र पर भी समय पर मतदान शुरू नहीं हो पाया, इसी पर निर्वाचन अधिकारी वीएल कांताराव सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी यहां मतदान करने पहुंचे। भोपाल में बूथ क्रमांक 217,218,219,220 पर भी मतदान समय पर शुरू नहीं हो सका है, यहां मतदाताओं की लंबी कतार लगी है। कोलार में साईं नाथ नगर के मतदान केंद्रों पर साढ़े छह बजे से लंबी लाइन लग गई थी। ग्वालियर मतदान केंद्र क्रमांक 58 डोली में मशीन खराब होने से मतदाता परेशान हुए। यहां पहुंची 90 साल से अधिक की वृद्ध महिला भी यहां वोट देने पहुंची थीं, वे भी परेशान हुईं।

भोपाल में हंगामा, महापौर आलोक शर्मा ने मंत्री आरिफ के भाई को धमकाया


लोकसभा चुनाव को लेकर मध्य प्रदेश की आठ सीटों पर मतदान जारी है। वोटिंग के एक घंटे के बाद ही कई जगह विवाद और हंगामे की खबरे आ रही है। इस बीच भोपाल में हंगामे की खबर है। भोपाल में डीआईजी बंगला क्षेत्र में पोलिंग बूथ क्रमांक 152 , 155 पर हंगामा हुआ है। यहां बीजेपी के पोलिंग एजेंट को हथियार से मारने की धमकी देने के आरोप लगाए हैं। महापौर आलोक शर्मा ने आरोप लगाया कि मंत्री आरिफ अकील के भाई आमिर अकील ने पोलिंग एजेंट उठा दिया और बाहर निकाल दिया और उसके साथ गाली गलौज की है। उन्होंने कहा पोलिंग एजेंट को डराया धमकाया जा रहा है। महापौर आलोक शर्मा सहित कई बीजेपी पधादिकारी और कार्यकर्ताओं ने इसका विरोध किया है।

चंबल में नाव से पेट्रोलिंग

चुनाव में सीमा पार से बाहरी लोगों के आवागमन पर निगरानी के लिए चंबल नदी में नाव से पेट्रोलिंग की जा रही है। खासतौर पर अवैध मादक पदार्थों, अवैध हथियार एवं अवैध धनराशि के परिवहन को कड़ाई से रोकने और असामाजिक तत्वों की धरपकड़ के लिए नदी में गश्त बढ़ाया गया है। चंबल से होकर मुरैना एवं श्योपुर में मादक पदार्थ एवं हथियारों की तस्करी होती है।

भिंड-मुरैना में 1221 मतदान केंद्रों पर अतिरिक्त सतर्कता


भिंड और मुरैना संसदीय क्षेत्रों में 1221 मतदान केंद्र अति संवेदनशील घोषित किए गए हैं। इन अति संवेदनशील मतदान केंद्रों पर मतदान के दौरान निर्वाचन आयोग ने अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था के इंतजाम किए हैं। मतदान के दौरान यहां होने वाली हिंसा के इतिहास को देखते हुए निर्वाचन आयोग के मुख्य पदाधिकारी वीएल कांताराव ने शुक्रवार को इन क्षेत्रों में अधिकारियों के साथ बैठक कर सुरक्षा इंतजामों की समीक्षा की। जिला प्रशासन ने भिंड दतिया संसदीय क्षेत्र में 341 मतदान केंद्रों को संवेदनशील की श्रेणी में रखा है। जहां सुरक्षा के लिहाज से जहां सेंट्रल पैरा मिलिट्री फोर्स के सशस्त्र जवान तैनात हैं।

भोपाल में पैरामिलिट्री फोर्स तैनात


भोपाल में बीएसएफ, सीआरपीएफ, आरएएफ, होमगार्ड एवं जिला बल समेत करीब 9 हजार पुलिस अफसर-कर्मचारियों को तैनात किया गया है। राजधानी के सीमावर्ती क्षेत्रों में 17 स्थानों पर नाकाबंदी कर लगातार चेकिंग की जा रही है। साथ ही हर विधानसभा क्षेत्र में 3-3 फ्लाइंग स्क्वॉड टीम (एफएसटी) एवं स्टैटिक सर्विलांस टीम (एसएसटी) 24 घंटे अलर्ट है। जिले में 200 सेक्टर मजिस्ट्रेट की मोबाइलों के अलावा 200 पुलिस सेक्टर मोबाइल बनाई गई हैं। जो 10 से 12 केंद्रों पर लगातार पेट्रोलिंग करेंगी। डायल-100 (एफआरवी) की 50 गाडिय़ां और 11 बाइक (मिनी एफआरवी) भी तैनातह है। साथ ही 1200 सीसीटीवी कैमरों के जरिए नजर रखी जा रही है।योजन किया था।

बंगाल में फिर बवाल

लोकसभा चुनाव के छठे चरण के लिए आज सात राज्यों की 59 सीटों पर मतदान हो रहा है। आज पश्चिम बंगाल की आठ सीटों के लिए भी मतदान हो रहा है। मगर मतदान शुरू होने से पहले भाजपा के एक बूथ कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई है। यह घटना झारग्राम में घटित हुई। मृतक का नाम रामेन सिंह है। भाजपा के कार्यकर्ता के अलावा तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के एक कार्यकर्ता का भी शव मिला है।

इसके अलावा टीएमसी के दो कार्यकर्ताओं को गोली मार दी गई है।

बंगाल में मतदान के साथ हिंसा का दौर भी चरम पर पहुंचा हुआ है। लगभग हर चुनाव के दौरान यहां हिंसा की घटनाएं हुई हैं। मिदनापुर में टीएमसी के दो कार्यकर्ताओं को गोली मारी गई है। दोनों कार्यकर्ताओं को तमलुक के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इसी बीच बेल्दा के टीएमसी कार्यालय पर भी हमला हुआ है। मरधारा के कांठी में टीएमसी कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई है। टीएमसी ने इसके लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहराया है।

इन सीटों पर मतदान जारी

छठे चरण में उत्तर प्रदेश की 14, हरियाणा की 10, बिहार की 8, दिल्ली की सात और झारखंड की चार सीटों पर वोटिंग हो रही है। इस चरण में बीजेपी की कड़ी परीक्षा है क्योंकि 2014 में उसे 59 में से 45 सीटों पर जीत मिली थी। वहीं टीएमसी को आठ, कांग्रेस को दो और सपा और लोजपा को एक-एक सीट पर जीत मिली थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here