क्रिप्टो करंसी के नाम पर लोगों से ठगे 100 करोड़ – लोगों फंसाने के लिए सेमिनार आयोजित करता था गैंग

0
53
Crypto currency

मुंबई- एक तरफ मुम्बई पुलिस लोगों को ठगी से बचाने के लिए सतर्क रहने की अपील करतीहै । वहीं ठग, लोगों को चूना लगाने के लिए अलग-अलग हथकंडे अपनाने लगे हैं। मुम्बई क्राइम ब्रांच की गिरफ्त में चार आरोपी आए हैं, जिन्होंने क्रिप्टो करंसी बिटकॉइन के माध्यम से लोगों को झांसा देकर एक-दो या तीन नहीं, बल्कि 100 करोड़ की ठगी को अंजाम ‎दिया।

इस ठगी रैकेट का राज तब खुला, जब गुजरात के एक बिजनेसमैन ने क्राइम ब्रांच में यह शिकायत दर्ज कराई कि कुछ लोगों ने पैसा डबल होने का लालच देकर उससे लगभग 1.20 करोड़ रुपये ठगी कर गायब हो गए हैं। शिकायत दर्ज करने के बाद क्राइम ब्रांच ने जांच शुरू की और सूरत से 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपियों से पूछताछ में जो जानकारी सामने आई, उससे क्राइम ब्रांच के अधिकारी भी चौक गए।

आरोपियों ने पुलिस के सामने बताया ‎कि वह इस तरह से अब तक एक दो करोड़ नहीं, बल्कि 100 करोड़ का फ्रॉड कर चुके हैं। मुम्बई क्राइम ब्रांच के पुलिस निरीक्षक हेमन्त गीते ने बताया कि आरोपी अपने झांसे में लोगों को लेने के लिए पहले सेमिनार आयोजित करते थे। सेमिनार में लोगों को कन्विंस करने में कायमाब हो जाते थे कि अगर वह क्रिप्टो करंसी यानी बिटकोइन में निवेश करते हैं, तो 2 महीने के भीतर उनका पैसा डबल हो जाएगा। कई लोग पैसा डबल होने के लालच में लाखों रुपये निवेश कर देते थे। जैसे ही पीड़ित लोग पैसा आरोपियों के खाते में ट्रांसफर करते थे, आरोपी पैसा लेकर गायब हो जाते थे।


मुम्बई क्राइम ब्रांच के पुलिस निरीक्षक हेमन्त गीते के अनुसार, आरोपियों का यह ठगी जाल उत्तर प्रदेश, गुजरात, मुम्बई सहित देश के कई राज्यों में फैला हुआ है।

अभी तक कुल 6 लोगों ने शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस को आशंका है कि आने वाले दिनों कई और लोग शिकायत दर्ज कराने आ सकते हैं। पुलिस फिलहाल इस ठगी के मास्टरमाइंड और मामले के 5वें आरोपी की तलाश में है। पुलिस का दावा है कि आने वाले दिनों में इस केस में कई और चौंकाने वाले खुलासे ‎किए जा सकते हैं। फिलहाल मामले की जांच जारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here