भोपाल में कोरोना संक्रमण के 12 नए केस सामने आए

0
48
12 new cases corona virus in bhopal

राजधानी में मंगलवार सुबह कोरोना संक्रमण के 12 नए केस (12 new cases of corona) सामने आए हैं, जिसमें 5 स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारी हैं और 7 पुलिस कर्मचारी और उनके परिवार के लोग हैं। अब राजधानी में कोरोना पॉजिटिव की संख्या बढ़कर 75 हो गई है। इसमें स्वास्थ्य विभाग के ही केवल 34 केस आ चुके हैं। सोमवार तक स्वास्थ्य विभाग के 29 संक्रमित थे। शाम तक ये आंकड़ा और बढ़ सकता है। सीएमएचओ डॉ. सुधीर डेहरिया ने इसकी पुष्टि की है।


डेहरिया ने बताया की मंगलवार सुबह प्राप्त हुई रिपोर्ट के अनुसार भोपाल में कोरोना संक्रमित 12 नए मरीज मिले है। इनमें से महेंद्र मर्सकोले, सौरभ श्रीवास्तव, सुनील यादव, (Saurabh Srivastava)अशोक कुमार और धर्मेंद्र कुशवाह स्वास्थ विभाग के कर्मचारी हैं। शेष 7 पुलिस विभाग के और उनके परिवार के सदस्य है।


घर से बाहर न निकले
डेहरिया ने लोगों से अपील की है कि वह अपने घरों में ही रहें। वहीं स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों व अधिकारियों को भर्ती किया जा रहा है और उनके परिवार में किसी को भी संक्रमण के लक्षण दिखाई दे रहे हैं। वह तुरंत जांच कराएं और वह किस-किस से मिल चुके है, इसकी जानकारी दें ताकि कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की जा सके और संक्रमण को रोका जा सके।

63 क्षेत्रों को कैंटोनमेंट एरिया घोषित किया


कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढऩे के साथ ही प्रशासन ने 22 नए कंटेनमेंट एरिया घोषित किए हैं। इनके साथ ही शहर में कंटेनमेंट एरिया की संख्या बढ़कर अब 63 हो गई। नए घोषित एरिया में बाग सेवनिया, रीगल होम्स खजूरीकलां, जानकी नगर चूना भट्टी, सलैया, पार्वती नगर कोलार, टीटी नगर पुलिस आवासीय परिसर के तीन मकान, जहांगीरबाद, 25वीं बटालियन, शिवाजी नगर, अशोका गार्डन, नुपूर कुंज, एसबीआई कॉलोनी जहांगीराबाद, नॉर्थ टीटी नगर, घरोंदा हाइट्स कोलार, ऋषि नगर चार इमली, अवधपुरी, 477 बाग सेवनिया, खनूजा इनक्लेव दाना पानी, रचना नगर और अमलतास फेज- शामिल हैं। इन एरिया में बाहरियों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है।


पुलिस टीम पर हमला करने वालों पर बरसे शिवराज
किसी को बख्शा नहीं जाएगा, रासुका के तहत होगी कार्रवाई


कोरोना संकट के बावजूद भोपाल में लॉकडाउन का सख्ती से पालन करा रहे पुलिस जवानों पर बदमाशों द्वारा हमला किए जाने की घटना की मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कड़ी निंदा की है। साथ ही उन्होंने कहा कि हमलावरों बख्शा नहीं जाएगा। उनके खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री अपने निवास से भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन समेत अन्य जिलों के पुलिसकर्मियों से दूरभाष पर बात कर उनका हौसला बढ़ाया।

मुख्यमंत्री ने ट्वीट के जरिए कहा कि च्दिन रात एक कर जनता को इस महामारी से बचाने में लगे पुलिसकर्मियों पर हमला बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कबूतर हो या कचौड़ी, किसी को बख्शा नहीं जाएगा। अराजकता फैलाने वालों गुंडे-बदमाशों को सबक सिखाना अतिआवश्यक है। इन गुंडों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here