धोनी जैसी स्टंपिंग और गिलक्रिस्ट जैसी कैच लपकने की काबिलियत अपने अंदर लाना चाहते हैं ऋषभ पंत

0
14
Rishabh Pant

धोनी के खेल से अभीभूत ऋषभ पंत ने कहा है कि वे उनके जैसी स्टंपिंग और गिलक्रिस्ट जैसी कैच लपकने की काबिलियत अपने अंदर लाना चाहते हैं। एडिलेड टेस्ट में भले ही पंत बतौर बल्लेबाज नाकाम रहे लेकिन विकेटकीपर के तौर पर उन्होंने 11 कैच लपक वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया। एडिलेड टेस्ट में टीम इंडिया को जीत मिली और ये रिकॉर्ड बनाने के बाद पंत ने बातचीत की। बातचीत में पंत ने धोनी की तारीफ की और कई दिल छूने वाले बयान दिए।

उन्होंने कहा, मैं कभी रिकॉर्ड के बारे में नहीं सोचता लेकिन ज्यादा से ज्यादा कैच पकड़ना टीम के लिए अच्छा है। एक विकेटकीपर के तौर पर दबाव भरे लम्हों में धैर्य रखना बेहद जरूरी है। मैं अपना 100 फीसदी देने की कोशिश करता हूं। मैं धोनी से बेहद प्रभावित हूं। जिस तरह के नए-नए कारनामे उन्होंने देश के लिए किए हैं वो काबिलेतारीफ हैं। मैंने बतौर क्रिकेटर और एक शख्स के तौर पर धोनी से काफी कुछ सीखा है।


पंत ने आगे कहा

धोनी जब भी आसपास होते हैं तो मैं काफी सहज और आत्मविश्वास भरा महसूस करता हूं। जब भी मुझे दिक्कत होती है तो मैं उन्हें फोन करता हूं। जब ऋषभ पंत से पूछा गया कि अगर वो एक चीज धोनी की और एक चीज गिलक्रिस्ट की लेना चाहें तो क्या लेंगे। तो इस पर पंत ने जवाब दिया कि वो धोनी जैसी स्टंपिंग और गिलक्रिस्ट जैसे कैच पकड़ने की काबिलियत अपने अंदर लाना चाहेंगे।


गौरतलब है कि 21 साल के पंत ने एडिलेड टेस्‍ट में 11 खिलाड़ियों को कैच किया, जो कि ऑस्‍ट्रेलिया में किसी भी विदेशी विकेटकीपर का रिकॉर्ड प्रदर्शन है।

उन्‍होंने पहली पारी में छह‍, तो दूसरी पारी में पांच कैच पकड़े। ऋषभ पंत से पहले ऑस्‍ट्रेलिया में एक मैच में सर्वाधिक कैच पकड़ने का रिकॉर्ड वेस्‍टइंडीज के डेविड मुरे के नाम था, जिन्‍होंने 1981 में नौ खिलाड़ियों को आउट किया था। पंत से पहले एक मैच में सबसे ज्यादा शिकार करने का रिकॉर्ड इंग्लैंड के पूर्व विकेटकीपर जैक रसल और साउथ अफ्रीका के एबी डीविलियर्स के नाम था, जिन्‍होंने 11-11 कैच पकड़े। रसल ने 1995 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ और डीविलियर्स ने 2013 में पाकिस्तान के खिलाफ ऐसा रिकॉर्ड कायम किया था। मजेदार बात ये है कि इस रिकॉर्ड का गवाह बना था जोहानिसबर्ग मैदान। हालांकि पंत भी एक मैच में 11 कैच पकड़कर रसल और डीविलियर्स के खास क्‍लब का हिस्‍सा बन गए हैं।