अफरीदी की बेहतरीन गेंदबाजी, पाकिस्तान की विजयी विदाई

0
32
अफरीदी

बेशक पाकिस्तान आईसीसी विश्व कप-2019 के सेमीफाइनल में नहीं पहुंच पाई

लेकिन उसने शुक्रवार को लॉर्ड्स मैदान पर खेले गए अपने अंतिम मैच में बांग्लादेश को 94 रनों से हरा जीत के साथ विदाई ली। पाकिस्तान ने इस मैच में टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला लिया और इमाम उल हक के 100 तथा बाबर आजम के 96 रनों के दम पर 50 ओवरों में नौ विकेट खोकर 315 रन बनाए। पाकिस्तान ने फिर छह विकेट लेने वाले शाहीन अफरीदी की अगुआई में बेहतरीन गेंदबाजी के दम पर बांग्लादेश को 44.1ओवरों में 221 रनों पर ढेर जीत हासिल की।

शाहीन का यह प्रदर्शन विश्व कप में पाकिस्तान के किसी भी गेंदबाज द्वारा किया गया सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। साथ ही 19 साल के शाहीन विश्व कप में पांच या उससे ज्यादा विकेट लेने वाले सबसे युवा गेंदबाज बन गए हैं। इस प्रदर्शन के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया।

इस मैच पर पाकिस्तान के सेमीफाइनल में जाने की नामुमकिन सी सही लेकिन उम्मीदें टिकीं थीं। इसके लिए पाकिस्तान का पहला बल्लेबाजी करना जरूरी था जो उसने की।

बांग्लादेश को 316 रनों का लक्ष्य देने के बाद पाकिस्तान को सेमीफाइनल में जगह बनाने के लिए चाहिए था कि वह बांग्लादेश को सात रनों से पहले ऑल आउट कर दे, लेकिन ऐसा हो नहीं पाया और पाकिस्तान की जगह न्यूजीलैंड सेमीफाइनल में पहुंची।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी बांग्लादेश की ख्वाहिश भी जीत के साथ विदाई लेने की थी जिसमें वो विफल रही। उसके लिए एक बार फिर शाकिब अल हसन ने बेहतरीन बल्लेबाजी की और 77 गेंदों पर छह चौकों की मदद से 64 रन बनाए। उनके अलावा कोई और बल्लेबाज अर्धशतक नहीं जमा सका।

शाकिब को अफरीदी ने अपना तीसरा शिकार बनाया। उनसे पहले वो तमीम इकबाल (8) और लिटन दास (32) के विकेट ले चुके थे। बांग्लादेश को पहली सफलता हालांकि मोहम्मद आमिर ने सौम्य सरकार (22) को 26 के कुल स्कोर पर आउट कर दिलाई थी। शाकिब 154 के कुल स्कोर पर पांचवें विकेट के लिए रूप में आउट हुए। इस बीच बांग्लादेश ने तमीम और दास के अलावा मुश्फीकुर रहीम का विकेट खोया जो 16 रनों के निजी स्कोर पर वहाब रियाज का शिकार बने।

शाकिब के पवेलियन लौटने के बाद बांग्लादेश की हार तय हो गई थी। मोसाद्देक हुसैन (16) और मशरफे मुर्तजा (15) को शादाब खान ने आउट किया। मोहम्मद सैफउद्दीन (0), महामुदुल्लाह (29), मुस्ताफिजुर रहमान (1) को आउट कर शाहीन ने अपने छह विकेट पूरे किए।

इससे पबले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी पाकिस्तान को 23 के कुल स्कोर पर फखर जमन (13) के रूप में पहला झटका लगा। उन्होंने मोहम्मद सैफउद्दीन ने आउट किया। फिर इमाम और बाबर ने विकेट पर टिकने में सफलता हासिल की। दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 157 रनों की साझेदारी की।

सैफउद्दीन ने बाबर को शतक से चार रन दूर पहले ही पवेलियन भेज दिया। इस बल्लेबाज ने 98 गेंदों का सामना कर 11 चौके लगाए।

बाबर के जाने के बाद इमाम ने शतक पूरा किया लेकिन दुर्भाग्यशाली तरीके से आउट हुए। रहमान की गेंद को बैकफुट पर खेलने गए इमाम हिट विकेट हो गए। 100 गेंदों पर 100 रन बनाने वाले इमाम ने अपनी पारी में सात चौके लगाए। मोहम्मद हफीज सिर्फ 26 रन ही बना सके।

इमाद वसीम ने अंत में तेजी से 26 गेंदों पर 43 रन बनाए, लेकिन कोई और बल्लेबाज उनका साथ नहीं दे सका। रियाज ने दो, शादाब ने एक, आमिर ने आठ रन बनाए। कप्तान सरफराज अहमद तीन रनों पर नाबाद रहे।

बांग्लादेश के लिए रहमान ने पांच विकेट लिए। सैफउद्दीन को तीन सफलताएं मिलीं। मेहदी हसन को एक विकेट मिला।

मैच के बाद पाकिस्तान ने शोएब मलिक के सम्मान में तालियां बचाई क्योंकि यह उनका आखिरी विश्व कप था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here