अगर हो जाए टाइफाइड, तो ज़रूर अपनाए ये नुस्खे

0
17
Typhoid Fever - Home Remedies
ये उपाए करके टाइफाइड जैसी बीमारी से पाए छुटकारा

Home Remedies – टाइफाइड एक ऐसी समस्य जो आमतौर पर दूषित पानी या भोजन खाने से होती हैं।

टाइफाइड बुखार साल्मोनेला टाइफी बैक्टीरिया के कारण भी होता हैं। यह जीवाणु संक्रमण हाई फीवर और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याओं का कारण बनता हैं। बता दे की इस बीमारी के लक्षणों में शरीर में दर्द और भूख कम लगना शामिल हैं। साथ ही कई बार इसमें आपको पिंक स्‍पॉट और स्किन रैश भी सकते हैं। इस बीमारी में आपका फीवर 104 डिग्री फारेनहाइट तक पहुंच सकता हैं। ये बीमारी ऐसी हैं जो लंबे समय तक बनी रहती हैं। इस बीमारी को ठीक करने के लिए काफी सक्ति बरतना पड़ती हैं।

टाइफाइड का टीका व्यक्तियों को बैक्टीरिया से कुछ वर्षों तक संक्रमित होने से रोकने में मदद कर सकता हैं। लेकिन इसके साथ ही किसी भी तरह के संक्रमण से बचने के लिए आपको फ्रेश और हेल्‍दी डाइट लेना बहुत आवश्यक हैं। आप चाहे हैं तो इस बीमारी से निपटने के लिए दवाइयों का इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन कुछ घरेलू उपचार ऐसे हैं जिसकी मदद से आप इस बीमारी से निजात पा सकते हैं।

तो ऐसे की कुछ घरलू उपाए हैं जो आज हम आपको बताने जा रहें हैं। जिसकी मदद से आप इस समास्या को दूर कर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं कुछ खास घरलू उपाए।

लहसुन

लहसुन

टाइफाइड बुखार को कंट्रोल करने में लहसुन भी बेहद लाभदायक साबित होता हैं। यह टाइफाइड बुखार से पीड़ित व्यक्ति की प्रतिरक्षा को बढ़ावा देता हैं। लहसुन को विभिन्न प्रकार के स्वास्थ्य लाभ के लिए जाना जाता हैं। लहसुन में एंटीऑक्सिडेंट होते हैं और यह रक्त को प्यूरीफाई करने का काम करता हैं। इसके अलावा लहसुन किडनी से अवांछित पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता हैं। हालांकि, इसका अधिक लाभ लेने के लिए इसे कच्‍चा या अधपका खाना चाहिए।

तुलसी

Tulsi-leaves
टाइफाइड बुखार की वजह से आने वाली सूजन और ज्‍वाइंट पेन को कम करने में तुलसी मदद करती हैं। तुलसी एक लोकप्रिय जड़ीबूटी हैं। इसका इस्‍तेमाल कई आयुर्वेदिक दवाओं में भी किया जाता हैं। इतना ही नहीं यह मलेरिया समेत कई बीमारियों का इलाज करने में सहायता करती हैं। टाइफाइड से पीड़ित व्‍यक्ति को तुलसी डालकर उबला हुआ पानी देने से फायदा होता हैं। बता दे की तुलसी के जीवाणुरोधी गुण बैक्टीरिया को हटाने में मदद करते हैं।

ठंडे पानी की पट्टियां

ठंडे पानी की पट्टियां
टाइफाइड में हाई फीवर की समास्या रहती हैं। साथ ही हाई फीवर कई दिनों तक बना रहता हैं। चुकी ये हाई फीवर बना रहता हैं। इसलिए ज़रूरी हैं की शरीर का तापमान सामान्‍य बनाए रखें। इसके लिए आप ठंडे पानी की मदद ले सकते हैं. रोगी के माथे, बगल, पैर और हाथों पर ठंडे पानी की पट्टियां रखते रहें। ध्यान रहें की पानी ज़्यदा ठंडा नहीं होना चाहिए। साथ ही कपड़े को समय-समय पर सर्वोत्तम परिणामों के लिए बदला जाना चाहिए।

सेब का सिरका

ठंडे पानी की पट्टियां
टाइफाइड के लिए यह काफी अच्छा घरेलू उपाय हैं। क्योंकि सेब के सिरके में अम्लीय गुण होते हैं। जो हाई फीवर को कम करने में मदद करता हैं। साथ ही टायफाइड से पीड़ित व्यक्ति के शरीर से गर्मी निकालता हैं। बता दे की इसमें खनिज होते हैं जो बीमार होने वाले व्यक्ति के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here