जीतू पटवारी बोले -सिंधिया ने अहंकार पूरा करने को कांग्रेस की सरकार गिराई

0
77
जीतू पटवारी बोले -सिंधिया ने अहंकार पूरा
जीतू पटवारी बोले -सिंधिया ने अहंकार पूरा करने को कांग्रेस की सरकार गिराई

Bhopal news कांग्रेस की मध्यप्रदेश इकाई के मीडिया विभाग के अध्यक्ष और पूर्व मंत्री जीतू पटवारी(Jitu Patwari) ने भाजपा नेता व राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (MP Jyotiraditya Scindia)पर हमला करते हुए कहा कि सिंधिया ने अपने अहंकार को पूरा करने के लिए कांग्रेस की सरकार गिराई थी।

MP News -सिंधिया इंदौर-उज्जैन यात्रा पर हैं और उनका भाजपा के कई नेताओं के आवास पर जाने का कार्यक्रम है। इस पर तंज कसते हुए पटवारी ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सिंधिया ने सम्मान पाने के लिए कांग्रेस छोड़ी थी तो फिर अब नेताओं के दर-दर पर क्यों भटक रहे हैं।

पटवारी ने कहा, सिंधिया ने अपना अहंकार, हठधर्मिता और मैं हूं बताने के लिए कांग्रेस की सरकार गिराने का निर्णय लिया और मैं मानता हूं कि वो उसमें सफल हो गए। सिंधिया ने कांग्रेस में रहते हुए सड़क पर आने का उद्देश्य बताया था कि अतिथि शिक्षकों और अतिथि विद्वानों की लड़ाई मैं लडूंगा। लेकिन आज तक इनके लिए सिंधिया सड़कों पर नहीं आए। राज्य में 68-69 हजार अतिथि शिक्षकों को पिछले तीन-चार महीनों से वेतन नहीं मिला। करीब 65 लोगों की आत्महत्या के आंकड़े आए हैं। लेकिन उनके मुंह से एक शब्द भी नहीं निकला।

गृह मंत्रालय की स्थायी समिति बुधवार को करेगी बैठक कोविड-19 पार

सिंधिया के टाइगर अभी जिंदा हैं, वाले बयान का जिक्र करते हुए पटवारी ने कहा, उन्होंने एक दिन कहा कि टाइगर अभी जिंदा है, तो पिछले पांच महीनों में आज तक ग्वालियर-चंबल जनसेवा के लिए टाइगर क्यों नहीं गया और जंगलराज में आज आए हैं इंदौर-उज्जैन के दौरे पर?

संवाददाताओं से चर्चा करते हुए पटवारी ने कहा कांग्रेस सरकार ने 25 लाख किसानों के कर्ज माफ किए हैं।

अब शिवराज सिंह चौहान और ज्योतिरादित्य सिंधिया का दायित्व है कि बाकी किसानों के कर्ज माफ करें। आखिर किसानों की क्या गलती है, जो उनसे उनका हक छीना जा रहा है। इसके अलावा किसान नकली खाद-बीज की वजह से परेशान हैं और सरकार का ध्यान सिर्फ चुनाव जीतने पर है।

एक तरफ जहां किसानों की समस्याओं का जिक्र किया तो पटवारी ने बिजली बिलों की भी तुलना कर डाली। दूसरे राज्यों में पेट्रोल-डीजल के दाम में टैक्स घटाया जा रहा है, लेकिन मध्य प्रदेश सरकार का इस पर कोई ध्यान नहीं दे रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here