राहुल गांधी की मप्र की जनता से अपील 15 साल भाजपा सरकार को देखा, इस बार हमें मौका दे

0
69
rahul ghandhi in sheopur

रैली में शिवराज से ज्यादा मोदी सरकार को कोसा

श्योपुर- मप्र में विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी प्रदेश के दो दिन के दौरे पर है। अपने दौरे के दूसरे मंगलवार को मध्यप्रदेश के श्योपुर में रैली को संबोधित करते हुए केंद्र की मोदी सरकार और राज्य की शिवराज सरकार को आड़े हाथों लिया। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि आपने 15 साल तक इनकी सरकार को देख लिया, इस बार हमें मौका दे। हमारे पास आज कमलनाथ जी का अनुभव है और सिंधिया जी की ऊर्जा है, हम सभी मिलकर किसान और युवाओं के लिए काम करने वाले है।

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश में लगातार कांग्रेस नेतृत्व में नेताओं के बीच मनमुटाव की खबरें आती रही हैं

इसमें राहुल का दोनों नेताओं का आगे बढ़कर इस तरह नाम लेना अलग संदेश देता है। श्योपुर की रैली में राहुल गांधी ने कहा कि यूपीए के समय में एचएएल को लड़ाकू विमान का कॉन्ट्रैक्ट मिला था, लेकिन मोदी सरकार ने इस छीन कर अनिल अंबानी को दे दिया। एनडीए की सरकार ने 3 गुनी कीमत पर राफेल की डील की है।

रैली में प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधते हुए राहुल ने एक बार फिर कहा कि चौकीदार ने गरीबों के पैसों की चोरी करवा दी। तेल की कीमतें दुनिया भर में गिर रही हैं लेकिन भारत में रोज बढ़ रही है, ये एमपी में शिवराज चौहान और दिल्ली में नरेंद्र मोदी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि व्यापमं में 50 से अधिक लोगों की मौत हो गई है, लेकिन कोई जेल नहीं गया। पूरा प्रदेश जानता है कि भ्रष्ट कौन है और भ्रष्टाचार कौन कर रहा है।

किसानों का होगा कर्ज माफ पिछले 15 साल में शिवराज सरकार ने राज्य में गरीबों के लिए कोई काम नहीं किया है। इस दौरान राहुल गांधी ने कहा कि मध्यप्रदेश की जनता के सामने दो-तीन बड़ी समस्या हैं। कुपोषण, किसानों की समस्या, और युवाओं के रोजगार की समस्या है। उन्होंने कहा कि मैं आपसे झूठे वादे नहीं करूंगा, 15 लाख जैसे वादे नहीं करूंगा। लेकिन इतना कहूंगा कि जैसे ही हमारी सरकार एमपी में आएगी किसानों का कर्ज माफ हो जाएगा।

बात दे कि मध्यप्रदेश के छह अंचलों में से एक ग्वालियर-चंबल इलाके में कांग्रेस सबसे मजबूत स्थिति में है।

राज्य की कुल 230 विधानसभा सीटों में 34 सीटें इसी इलाके से आती हैं। 2013 के विधानसभा चुनाव में इन 34 सीटों में से बीजेपी को 20, कांग्रेस को 12 और बसपा को 2 सीटें मिली थीं। कांग्रेस को पिछले चुनाव में इसी संभाग में सबसे ज्यादा सीटें मिली थीं। 2008 की तुलना में बीजेपी की सीटों में 6 का इजाफा हुआ था। जबकि कांग्रेस की पहले 13 सीटें थीं, जिनमें से एक घट गई थी। ग्वालियर-चंबल क्षेत्र में ग्वालियर, मुरैना, भिंड, श्योपुर, शिवपुरी, गुना, अशोक नगर और दतिया जिले आते हैं। पिछले चुनाव में श्योपुर की दो सीटों में से एक कांग्रेस-एक बीजेपी, मुरैना की 8 सीटों में से 6 बीजेपी और 2 बसपा को मिली थी। जबकि कांग्रेस का खाता भी नहीं खुला था।

वहीं भिंड की पांच सीटों में से 3 बीजेपी और 2 कांग्रेस, ग्वालियर की 6 सीटों में से 4 बीजेपी और 2 कांग्रेस, दतिया की सभी 3 सीटों पर बीजेपी ने जीत हासिल की थी। इसके अलावा शिवपुरी की 5 सीटों में से 2 बीजेपी और 3 कांग्रेस, गुना की 4 सीटों में से 2 बीजेपी और 2 कांग्रेस और अशोक नगर की तीन सीटों में से एक बीजेपी और 2 कांग्रेस ने जीत हासिल की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here