भाजपा की नई रणनीति, ‘एक देश-एक चुनाव’ को लेकर लगा रहीं हैं ज़ोर

0
45
PM Modi And Shah - Vidhansabha & Loksabha
कुछ समय के लिए टल सकते हैं चुनाव

Vidhansabha & Loksabha – इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने हैं।

जबकि अगले साल लोकसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में सरकार एक देश-एक चुनावको लेकर ज़ोर लगा रहीं हैं। दरअसल भाजपा का विचार हैं की अगले साल लोकसभा के साथ ही 11 बीजेपी शासित राज्यों में विधानसभा चुनाव करवाए जाए। अगर खबरों की माने तो भाजपा कुछ राज्यों में इस साल होने वाले विधानसभा चुनावों को देर से करवाने और अगले साल होने वाले विधानसभा को जल्दी कराने की संभावनाएं तलाश रही है। बता दे की मोदी सरकार आते ही एक देश-एक चुनाव की बात पर जोर दिया जा रहा था।

खबर हैं की मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ सरकारों का कार्यकाल जनवरी 2019 में खत्म हो रहा है।

यहां भाजपा की सरकार है और ये सरकारें लोकसभा चुनाव के साथ विधानसभा चुनाव के पक्ष में हैं। वहीं मिजोरम सरकार का कार्यकाल दिसंबर 2018 में खत्म हो रहा है। हालांकि, यहां अभी कांग्रेस की सरकार है। इसके अलावा हरियाणा, झारखंड और महाराष्ट्र के चुनाव कुछ महीने पहले करने पर ज़ोर दिया जा सकता हैं। खबरों के मुताबिक आंध्र प्रदेश, ओडिशा और तेलंगाना में विधानसभा चुनाव आम चुनाव के साथ ही शेड्यूल हैं। जम्मू-कश्मीर में अभी राज्यपाल शासन लागू है।

उधर, सोमवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भी इस बात पर ज़ोर डाला। अमित शाह भी चाहते हैं की एक साथ ही चुनाव किए जाए। एक देश-एक चुनाव को लेकर उन्होंने लॉ कमीशन को चिट्ठी भी लिखी। उन्होंने लिखा की बार-बार चुनाव से काफी पैसा भी खर्च होता है। प्रशासन पर भी बोझ पड़ता है। साथ ही उन्होंने लिखा की देश में मौजूदा समय में कहीं न कहीं चुनाव होते रहते हैं। इसके चलते न केवल राज्य सरकारों, बल्कि केंद्र सरकार के विकास कार्य भी रुक जाते हैं। इसे कम करने के लिए देश में एक चुनाव की जरूरत है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here