150 साल पुराने यमुना ब्रिज (लोहा पुल) पर रेल यातायात बंद

0
190

Weather Updates – राजधानी दिल्ली में खतरा टलने का नाम ही नहीं ले रहा हैं। उत्तर भारत और पहाड़ों में हो रही भारी बारिश के चलते यमुना और गंगा का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है।

बता दे की रविवार शाम हरियाणा के हथिनीकुंड बैराज से करीब 1.18 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया। जिसके कारण यमुना उफान पर है। यमुना के उफान पर आते ही यमुनानगर, करनाल, सोनीपत, पानीपत, पलवल और मथुरा को अलर्ट पर रखा गया हैं।

रविवार शाम यमुना का जलस्तर अपने खतरे के निशान को पार कर गया। यमुना का जलस्तर 205.53 मीटर तक पहुंच गया।

जिसकी वजह से सोमवार को रेलवे ने एहतियातन 150 साल पुराने यमुना ब्रिज (लोहा पुल) पर रेल यातायात को बंद कर दिया गया। इस ब्रिज के बंद होने के बाद रेल यातायात बुरी तरह से प्रभावित हुई हैं। ब्रिज के बंद होने के बाद करीब 27 ट्रेनें रद्द हो गईं जबकि 7 ट्रेनों को डायवर्ट कर दिया गया।

उधर, यमुना का जलस्तर बढ़ने से मथुरा के कई इलाकों में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। प्रशासन ने बताया कि मथुरा में चेतावनी स्तर 165.20 मीटर और खतरे का स्तर 166 मीटर है। सोमवार को यमुना का जलस्तर 205.65 मीटर तक पहुंचने का अनुमान है। 207 मीटर के लेवल के बाद ही आसपास के इलाकों में पानी घुस सकता है। बता दे की यमुना का जलस्तर रविवार देर रात 163 मीटर दर्ज किया गया। इस हालत से निपटने के लिए अलग-अलग जगह 23 बाढ़ सहायता शिविर बनाए गए हैं। 33 बाढ़ केंद्र स्थापित किए हैं।

इन राज्यों में मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

मौसम विभाग ने सोमवार को पूर्वी उत्तर प्रदेश, असम, मेघालय, बिहार, बंगाल, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, तटीय-दक्षिण कर्नाटक, केरल और उत्तराखंड में तेज बारिश की चेतावनी दी है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here