बिना गिरफ़्तारी के लौटे पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह

0
200
DIGVIJAY_SINGH - Bhopal Samachar

Bhopal Samachar – मुख्यमंत्री शिवराज सिंह द्वारा देशद्रोही के आरोप के बाद आज पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह अपनी गिरफ़्तारी देने टी टी नगर थाने पहुंचे थे।

जहां से वो बिना गिरफ़्तारी के लौट गए। बता दे की दिग्विजय सिंह ने अपनी गिरफ़्तारी की घोषणा पहले ही कर दी थीं। वे आज तमिलनाडु एक्सप्रसे से भोपाल पहुंचे। और वहीं से सीधे कांग्रेस कार्यालय पहुंचे। गिरफ्तारी कार्यक्रम के काफी पहले से ही हजारों की संख्या में दिग्विजय समर्थक नेता-कार्यकर्ता कांग्रेस कार्यालय पहुंच चुके थे।

दिग्वजिय सिंह अपने हजारों समर्थकों के साथ पैदल मार्च करते हुए कांग्रेस कार्यालय से टीटी नगर थाने की ओर निकले। लेकिन पुलिस ने बेरिकेड्स लगाकर कांग्रेसियों को और उन्हें थाने से थोड़ा पहले ही रोक लिया। दरअसल इस कार्यक्रम को दिग्विजय सिंह के शक्ति प्रदर्शन के रुप में भी देखा जा रहा है।

दिग्विजय सिंह गिरफ्तारी के लिए अड़े थे। लेकिन टीटी नगर थाना प्रभारी ने उन्हें बिना गिरफ्तार किए ही लौटा दिया।

थाना प्रभारी ने दिग्विजय सिंह से कहा कि उनके खिलाफ कोई शिकायत नहीं है लिहाजा उन्हें गिरफ्तार नहीं किया जा सकता। कांग्रेसी नेता काफी देर तक यहां खड़े रहे लेकिन पुलिस ने उन्हें आगे बढ़ने नहीं दिया और ना ही गिरफ्तार किया। कुछ देर बाद दिग्विजय सिंह और तमाम कांग्रेसी लौट गए।

सीएम के इस बयान को मद्देनजर रखते हुए दिग्विजय सिंह ने उन्हें पत्र भी लिखा था। उन्होंने लिखा था कि प्रदेश के मुख्यमंत्री उन्हें देशद्रोही मानते हैं लेकिन जहां तक उन्हें पता है उन्होंने ऐसा कोई काम नहीं किया। जिसकी वजह से संवैधानिक पद पर विराजमान मुख्यमंत्री की नजरों में वे देशद्रोही की श्रेणी में आए। इतना ही नहीं बल्कि उन्होंने लिखा कि सीएम के पास उनके देशद्रोही होने के जो भी सबूत हैं उन्हें वो प्रशासन को सौंप दें ताकि उनकी गिरफ्तारी हो सके।

वहीं दूसरी तरफ दिग्विजय सिंह की ओर से रामेश्वर नीखरा ने सीएम शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ मामला दर्ज करने का आवेदन दिया। दिग्विजय सिंह की ओर से थाने में दिए गए आवेदन में कहा गया कि सीएम ने गैर जिम्मेदाराना बयान दिया। लिहाजा उनके खिलाफ देश में अशांति फैलाने का मामला दर्ज किया जाए। इधर दिग्विजय सिंह ने कहा कि वे पूरे मामले को कोर्ट तक ले जाएंगे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here