लंदन से आया राहुल का भाषण, रोज़गार समेत कई मुद्दों पर उठाए सवाल

0
92
rahul gandhi - London Tour
राहुल गांधी का मोदी सरकार पर करारा हमला

London Tour – कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अब ब्रिटेन के दौरे पर हैं।

जहां से उन्होंने एक बार फिर मोदी सरकार का घ्रराव किया। राहुल, मोदी सरकार पर लगातार हमला बोलते आ रहें हैं। राहुल गांधी ने लंदन के स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स (LSE) से मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहां की सरकार रोज़गार की समस्या को स्वीकार नहीं कर रही। जबकि ये एक बड़ी समस्या हैं। इसके साथ ही उन्होंने उम्मीद जताते हुए कहां की इस बार भारत में चुनाव काफी दिलचस्प होंगे। क्योंकि लड़ाई बीजेपी – आरएसएस बनाम पुरे विपक्ष की हैं।

रोज़गार पर उठाया सवाल

रोजगार पर बोलते हुए उन्होंने कहा, ‘भारत में रोजगार की बड़ी समस्या हैं। और भारत सरकार इसे मान नहीं रही हैं। जहां चीन एक दिन में 50 हजार नौकरियां दे रहा है, वहीं हमारे यहां एक दिन सिर्फ 450 नौकरियां दी जा रही हैं। यह एक आपदा की तरह हैं। देश में रोजगार बड़ी समस्या हैं। और पहले इसे स्वीकार करना होगा, लेकिन सरकार इसको स्वीकार नहीं कर रही।

राफेल सौदे पर किया वार

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल मुद्दे की बात करते हुए कहां की देश का सबसे बड़ा रक्षा ठेका, राफेल सौदा अनिल अंबानी को दिया गया जिनके ऊपर 45,000 करोड़ रुपये का कर्ज था। और उन्होंने अपने जीवन में कभी कोई विमान नहीं बनाया।

नोटबंदी पर आरएसएस को घेरा

राहुल गांधी ने आरएसएस पर हमला बोलते हुए कहां की नोटबंदी के फैसला आरएसएस का था। उन्होंने कहा, ‘अगर आप अपने देश के ढांचे को गहराई से समझते हैं, तो आप संतुलित ताकत का इस्तेमाल करेंगे। आज मैं भारत को अपनी ताकत बढ़ाते नहीं देख पा रहा हूं। नोटबंदी का विचार वित्तमंत्री और आरबीआई को नज़रंदाज़ करके सीधे आरएसएस से आया और प्रधानमंत्री के दिमाग में बैठा दिया गया।

महिला आरक्षण पर बोले राहुल

उन्होंने कहा, ‘मैंने प्रधानमंत्री जी को संदेश भेजा हैं कि जिस दिन वो महिला आरक्षण विधेयक पारित कराना चाहते हैं, पूरी कांग्रेस पार्टी खुशी से बीजेपी का सहयोग करेगी।

जताई उम्मीद, चुनाव होंगे दिलचस्प

राहुल गांधी ने अगले साल भारत में होने वाले आम चुनाव के बारे में भी बोला। उन्होंने कहां की अगले साल भारत में चुनाव काफी दिलचस्प होंगे। उन्होंने कहां की एक तरफ बीजेपी हैं। वहीं दूसरी तरफ हर विपक्षी दल हैं। इसका कारण ये है कि, पहली बार भारतीय संस्थानों पर हमला किया गया हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here